बसपा ने बूथ लेबल वर्करों की बैठक में किया चुनावी रणनीति का खुलासा

October 2, 2018 4:54 pm0 commentsViews: 165

  कार्यकर्ताओं ने एक एक घर छाना तो बसपा का बढ़ सकता है 60 हजार वोट— आफताब आलम

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। बहुजन समाज पार्टी ने विधानसभा क्षेत्र इटवा डुमरियागंज विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के बूथ लेबल कार्यकर्ताओं की बैठक कर लोकसभा चुनाव की तैयारियों के पत्ते खोले। बैठक में उपस्थित बसपा लोकसभा प्रभारी और पार्टी के उम्मीदवार आफॅताब आलम ने सभी को चुनाव सम्बंधी टिप भी दिए।

मिली जानकारी के अनुसार के आज डुमरियागंज व इटवा में पार्टी कार्यालयों पर आयोजित बैठक में बसपा ने अपनी रणनीति का पहला पत्ता खोला। वहां उपस्थित बूथ वर्करों को उनके बूथ से सम्बन्धित गांवों के लिए बस्ता प्रदान किया गया। जिसमें  प्रत्येक परिवार के लिए एक बड़े साइज की वोटर पर्ची दी गई, जिसमें वोटरों के  के नाम पते आदि दर्ज है। इस वोटर पर्ची में अनुरोध किया गया है यदि किसी को नाम बढ़वाना या परिवर्तन कराना है तो वह किस फार्म पर पर करें। उसकी अंतिम तारीख क्या है। कठिनाई होने पर किससे सम्पपर्क करें आदि आदि विवरण भी दर्ज किए गये हैं।

‘रणनीति यह है कि इस वोटर पर्ची को लेकर उनके कार्यकर्ता घर घर जायेंगे। इससे एक बार बसपा कार्यकर्ता हर घर से सम्पर्क कर लेंगे। बसपा का हाथी निशान, बहन जी और उम्मरदवार के चित्र भी घर पहूंच जायेंगे। सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि बसपा अपने समर्थक वर्ग के एक एक वोटर का नाम वोटर लिस्ट में अंकित करवाने में कामयाब हो जायेगी। नये वोटरों के इस तादाद का अनुमान एक लाख के आस पास लगाया जा रहा है।

दोनों स्थानों पर कार्यकर्ताओं की बैठकों को सम्बोधित करते हुए बसपा प्रभारी/उम्मीदवार आफताब आलम उर्फ गुड्डू भैया ने कहा कि बसपा के वर्करअपनी वोटर पर्ची के साथ अपने बूथों के एक एक घर को छान लें। अपने समर्थक वोटरों का हर वोट वोटर लिस्ट में दर्ज कराएं। अगर ऐसा हुआ तो तो बसपा को साठ हजार पोल वोट का अतिरिक्त फायदा मिलेगा। इससे बसपा की जीत और आसान हो जायेगी। और बहन मायावती जी को प्रधान मंत्री बनाने में आसानी होगी।

इन बैठकों में डुमरियागंज विधानसभा क्षेत्र की प्रभारी सैयदा खातून, इटवा के प्रभारी हाजी अरशद खुर्शीद ने भी लोगों से अपने बूथ के हर घर तक पर्ची पहूंचाने का आहवान किया। दोनों कार्यक्रमों में डुमरियागंज से सुहेल फारुकी, फैजान उर्फ सबलू, शम्स तबरेज, बच्चा राम बौद्ध, रमेश चमार, इन्द्रजीत गौतम, विजय पाल कनौजिया तथा इटवा क्षेत्र से ज्वाला प्रसाद राजभर, सेराज अहमद, डा, राधेशयाम, रामयज्ञ गौतम, अंगद राज गौतम, राममिलन भारती आदि शामिल रहे।

 

 

(147)

Leave a Reply