शिक्षा के बाजारीकरण व अवैध कोचिंग सेंटरों को लेकर एबीवीपी चिंतित, ज्ञापन दिया

April 11, 2017 4:49 pm0 commentsViews: 144

दानिश फराज

डीएम को ज्ञापन देते शिव शक्ति वर्मा व एबीवीपी के अन्य सदस्य

डीएम को ज्ञापन देते शिव शक्ति वर्मा व एबीवीपी के अन्य सदस्य

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की स्थानीय इकाई ने शिक्षा के व्यवसायीकरण, अवैध काचिंग सेंटरों आदि को लेकर चिंता व्यक्त की है। एबीवीपी के प्रदेश सह मंत्री शिवशक्ति वर्मा ने गत दिवस संगठन के सदस्यों के साथ मिल कर डीएम के माध्यम से शिक्षा मंत्री को ज्ञापन देकर इन समस्याओं पर रोक लगाने की मांग की है।

जिलाधिकारी के माध्यम से दिए गये ज्ञापन में कहा गया है कि जिले में परीक्षाओं में खुले आम नकल हो रही है। सुविधा शुल्क खुले आम वसूला जा रहा हे। जिले में तीन सौ गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों में लूट मची हुई है। इस पर अंकुश जरूरी है। स्कूलों में ड्रेस, कापी किताब नामांकन के नाम पर लूट मची हुई है।

ज्ञापन में कहा गया है कि जिले में 15 सौ अवैध काचिंग सेंटर चल रहे हैं। यह आमतौर पर शिक्षकों द्धारा ही चलाये जा रहे हैं। इससे भ्रष्टाचार पनप रहा है। गरीब अभिभावकों पर आर्थिक बोझ बढ़ रहा है। अतः इस पर जनहित में रोक लगाना जरूरी है। अन्यथा परिषद विशाल आंदोलन चलाने को मजबूर होगी।

ज्ञापन देने वालों में शिव शक्ति वर्मा के अलावा परिषद के अमित तिवारी, दीपक त्रिपाठी, मुस्लिम अली, सत्य प्रकाश कसौधन, संजय कुमार, अनूप सिंह, विशाल सिंह, विपुल शुक्ला, राघवेन्द्र मद्धेशिया व शिवानंद पांउेय आदि शामिल रहे।

 

Leave a Reply