भाजपा सांसद व बसपा विधायक के समर्थक भिड़े, सांसद ने किया कार्यक्रम का बहिष्कार

September 24, 2017 1:04 pm0 commentsViews: 605

एस.पी. श्रीवास्तव

गोरखपुर।  बड़हलगंज ब्लॉक परिसर में शनिवार को प्रधानमंत्री आवास योजना स्वीकृतिपत्र वितरण समारोह में बैठने को लेकर बांसगांव के भाजपा सांसद कमलेश पासवान और चिल्लूपार के बसपा विधायक विनयशंकर तिवारी के समर्थकों के बीच तीखी नोक-झोंक हुई। कुछ देर तक हंगामा होने के बाद सांसद ने कार्यक्रम का बहिष्कार कर दिया और समर्थकों के साथ चले गए। घटना की सूचना पर अफसरों ने भारी पुलिस बल मौके पर भेज दिया। माहौल शांत होने के बाद विधायक की मौजूदगी में कार्यक्रम हुआ।

बताते हैं कि इस कार्यक्रम में सांसद और विधायक की उपस्थिति में लाभार्थियों को प्रमाण पत्र दिया जाना था। कमलेश पासवान करीब 2 बजे समर्थकों के साथ मंच पर पहुंचे। उसी समय विनयशंकर तिवारी भी समर्थकों के साथ आ गए। ब्लाक प्रमुख बेबी पासवान भी आ गईं।मंच पर तीन कुर्सियां थीं जिनपर सांसद, विधायक और ब्लाकप्रमुख को बैठना था। सांसद जिस कुर्सी पर बैठे उसके अगल-बगल उनके समर्थक बैठ गए। विधायक समर्थकों ने इसका विरोध किया तो सांसद समर्थकों को बात नागवार लगी।

ख़बर है कि इस पर दोनों ओर से नोक-झोंक शुरू हो गई। धक्का-मुक्की भी हुई। करीब 15 मिनट तक यह सब चलता रहा। दोनों नेता अपने समर्थकों को शांत करने में लगे रहे। माहौल खराब होते देख सांसद ने कार्यक्रम का बहिष्कार कर दिया और समर्थकों के साथ वहां से चले गए। कुछ ही देर में यह सूचना चारों ओर फैल गई।

  • जांच में जुटी पुलिस

घटना की ख़बर पर एसएसपी ने एसपी उत्तरी गणेश शाहा और एसपी दक्षिणी ज्ञान प्रकाश चतुर्वेदी के नेतृत्व में भारी पुलिस फोर्स बड़हलगंज भेजा, ताकि कोई अनहोनी न हो सके। पुलिस अधिकारियों ने बीडीओ बेचन राम, प्रमुख प्रतिनिधि बसंत पासवान और प्रधान संघ के अध्यक्ष हृदय शंकर सिंह से घटना की जानकारी ली।

सांसद ने कहा

इस प्रकरण में  सांसद कमलेश पासवान का कहना है कि जब व्यवस्थापक को मालूम था कि कार्यक्रम में कितने लोग आएंगे तो उसी अनुरूप उन्हें व्यवस्था करनी चाहिए थी। कार्यक्रम में काफी र्दुव्‍यवस्था थी। विधायक के लोगों ने भाजपा के मंडल अध्यक्ष को धक्का दे दिया। मैने र्दुव्‍यवस्था के चलते कार्यक्रम को स्थगित करा दिया।

  • विनय शंकर बोले

बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी के मुताबिक़ मंच पर प्रतिनिधियों के बैठने की व्यवस्था थी। उस पर भाजपा के लोग बैठ गए। पूर्व विधायक भी कुर्सी पर बैठ गए जिसे लेकर भीड़ ने हूटिंग की। सांसद ने कार्यक्रम का बहिष्कार किया। उनका व्यवहार ऐसा था जैसे कार्यक्रम भाजपा का हो। भाजपा का कार्यक्रम था तो हम लोगों को नहीं बुलाया जाना चाहिए था।

Bdo ने  कहा

इस बारे में खंड विकास अधिकारी बेचन राम  ने कहा कि कार्यक्रम में मंच पर बैठने के लिए तीन लोगों की व्यवस्था थी। सांसद, विधायक और प्रमुख। पूर्व विधायक राजेश त्रिपाठी भी मंच पर आ गए थे। उनके लिए कुर्सी लगवा दी गई। भाजपा के कुछ और लोग पहुंच गए तो विधायक विनय शंकर तिवारी के समर्थक हूटिंग करने लगे। सांसद कमलेश पासवान चले गए।

 

(1)

Leave a Reply