बारिश के साथ गिरे ओले, गेहू व आम की फसल की तबाही से किसान परेशान

April 7, 2019 2:26 pm0 commentsViews: 385

महफूज़ आलम / निज़ाम अंसारी

सिद्धार्थनगर। कल सुबह से मौसम ने अपना मिजाज दिखाना शुरू किया। दिन भर आसमान पर बादल मंडराते रहे. मध्यम पुरवा हवा के साथ । शाम 7 बजकर 5 मिनट  के करीब  शोहरतगढ़ , तुलसियापुर परसा ,बर्डपुर,  मोहाना बाजार, बजहा गौरा, पल्टा देवी ,  मंझरिया , चिल्हिया समेत जिले के अधिकांश क्षेत्र में  तेज हवा के साथ गर्जना बिजली चमकनी प्रारम्भ हो गयी। शुरू मे तो ओले गिरे कहीं मटर के दाने के बराबर तो कहीं कहीं 50 तक या इससे भी बडे ओले गिरने की सूचना है । मूसलाधार बारिश आधी रात तक जारी थी । चाहे दो पहिया वाहन हों या सुरक्षित माने जाने वाले चार पहिया वाहन बड़े ओले गिरने के कारण सबको शरण लेनी पड़ी।

ज्ञात हो की मौसम बिगडने का पूर्वानुमान पहले ही लग लिया गया था इससे सम्बंधित निर्देश भी मौसम विभाग द्वारा जारी किया गया था, जो की सच साबित हुआ। बारिश और ओलों से खेत में पक कर खडी गेहूं की फसलों पर बुरा प्रभाव पडा है। इससे किसान सकते मे आ गये हैं, क्यूंकि अभी तक उनकी फसल सुरक्षित घर तक नही आ पाई है।  वैसे क्षेत्र मे कहीं कहीं गेहूं की फसल कट रही है, पर अभी बहुत अधिक मात्रा मे कटाई बाकी है। शोहरतगढ़ क्षेत्र के मुर्तजा, अताउल्ला, राम मिलन,  अशोक चौधरी, बब्लू गिरी, राकेश मिश्रा समाजसेवी, महफूज, राम शंकर, सिकन्दर, आदि किसानों का कहना है की इस तरह मौसम के बिगडने से गेहूं की फसल को बहुत नुकसान हुआ है।

किसान बताते हैं कि पानी और ओले पडने से गेहूं के दाने गिर जायेगें और पानी से भीगने के कारण कटाई के लिए फिर से गेहूं सूखने का इन्तजार करना पडेगा । इसके अलावा इस नयी आफत ने आम की फसल पर भी कहर ढाया है।  अभी पेड़ पर और और सरसों के दाने के बराबर के आम के दाने ही पड़े थे। उनके नाजुक होने से ओला आंधी और बारिश ने कभी नुकसान पहुंचाया।

 

(365)

Leave a Reply