विद्युत बकायेदारों पर इटवा तहसीलदार राजेश अग्रवाल हुए सख्त, जारी किया वारण्ट

January 1, 2019 12:14 pm0 commentsViews: 84

मेराज़ मुस्तफा

इटवा, सिद्धार्थनगर। तहसीलदार इटवा राजेश अग्रवाल ने तहसील क्षेत्र के गोल्हौरा थाना अंतर्गत आने वाले ग्रामसभा करही खास में विद्युत विभाग का बीस लाख रूपये से अधिक बकाया धनराशि वसूली के सम्बंध में संग्रह अमीनों को साथ लेकर ग्रामसभा के बड़े बकायेदारों पर कड़ी कार्यवाई करते हुए वारण्ट जारी कर मौके पर मौजूद ग्राम प्रधान व ग्रमीणों के विशेष अनुरोध पर तीन दिन का अल्टीमेटम देते हुए चेतावनी दी कि यदि तीन दिनों के भीतर सम्पूर्ण बकाया राशि जमा नही किया जाता है तो सभी बकायेदारों की गिरफ्तारी व कुर्की का आदेश दे दिया जाएगा।

रविवार को तहसीलदार राजेश अग्रवाल के इस औचक राजस्व वसूली अभियान की चपेट में खुनियांव विकास खण्ड के सबसे बड़े ग्रामसभाओं में से एक करही खास के विद्युत उपभोक्ता आ गए। तहसीलदार राजेश अग्रवाल द्वारा इस विषय में इटवा तहसील परिसर में एक नोटिस भी चस्पा की गई है जिसमें बड़े बकायेदारों के नाम व उनपर बकाया धनराशि का उल्लेख है।

तहसीलदार राजेश अग्रवाल द्वारा करही खास के बकायेदारों की सूची में ग्रामवासी खुर्शीद आलम पुत्र मोहम्मद यूनुस जिनपर कुल विद्युत देय एक लाख नौ हजार रूपये, फेकू प्रसाद पर बासठ हजार पांच सौ नब्बे रूपये, अताउल्लाह पुत्र तहसीलदार पर एक लाख रूपये, इकरामुल्लाह पुत्र मो.इद्रीश पर एक लाख दस हजार रूपये, रामचरित्र पुत्र चतुर्भुज पर अट्ठानबे हजार रूपये, मो. हनीफ पुत्र भीखुल्लाह पर अस्सी हजार रूपये सहित समस्त विद्युत उपभोक्ताओं पर बीस लाख रूपये से अधिक बकाया है।

तहसीलदार राजेश अग्रवाल द्वारा राजस्व वसूली अभियान में मौके पर उपरोक्त बकायेदारों द्वारा बकाया राशि का कुछ प्रतिशत धनराशि जमा भी किया गया।

इस दौरान ग्राम प्रधान व उपभोक्ताओं ने तहसीलदार राजेश अग्रवाल से विद्युत बिल में गड़बड़ी होने की शिकायत की। जिसपर तहसीलदार राजेश अग्रवाल ने तत्काल विद्युत उपखण्ड अधिकारी इटवा को फोन द्वारा निर्देशित किया गया कि विद्युत बिल में गड़बड़ी को एक दिन के अंदर पूर्ण कर पुनः नया बकाया बिल भेजने को कहा।

तहसीलदार राजेश अग्रवाल द्वारा की जा रही राजस्व वसूली कार्यवाई में अब तक तहसील क्षेत्र के कई बड़े बकायेदारों की गिरफ्तारी व कुर्की भी की जा चुकी है जिस वजह से तहसील क्षेत्र के बड़े बकायेदारों में हड़कंप मचा हुआ है।

कार्यवाई से बचने के लिए बकायेदार स्वयं तहसीलदार राजेश अग्रवाल के पास जाकर बकाया धनराशि जमा कर रहे जिस कारण वर्तमान में इटवा तहसील प्रशासन राजस्व संग्रह मामले में अन्य जनपदों से भी अव्वल स्थान पर है जो उपजिलाधिकारी त्रिभुवन कुमार व तहसीलदार राजेश अग्रवाल की सक्रियता के कारण सम्भव हो पाया है।

(61)

Leave a Reply