योगी राज के नौ महीने में पूरा प्रदेश अराजकता के कगार पर पहुंचा–माता प्रसाद पांडेय

December 7, 2017 3:11 pm0 commentsViews: 277

––– प्रदेश सरकार बिजली दाम बढा करअपने जनविरोधी होने का सबूत दिया- उग्रसेन सिंह

–––  भाजपा राज में हर तरफ भय और आतंक का माहौल कायम, गरीब बर रहा– चिनकू यादव

 

 

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर।  बिजली की बढ़ी हुई दरों के खिलाफ प्रदेश व्यापी धरना के तहत सिद्धार्थनगर के सपाइयों ने आज कलक्ट्रेट कार्यालय पर धरना प्रदर्शन करते हुए  प्रशासन को ज्ञापन सौंपा और चेतावनी दी की अगर प्रदेश सरकार ने बिजली की बड़ी दरों में कमी न की तो समाजवादी पार्टी सरकार से आर पार की लड़ाई लड़ने से नहीं हिचकेगी। सभी ने योगी सरकार को अराजक राज की संज्ञा दी। ज्ञापन से पूर्व सपाइयों ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया और धरना देकर प्रदेश सरकार के खिलाफ जम कर नारेबाजी की।

इससे पूर्व धरने को सम्बोधित करते हुए पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और सपा नेता माता प्रसाद पांडेय ने कहा कि  पिछले 9 महीनों में सरकर ने प्रदेश को अराजकता के कगार पर पहूंच दिया। लूट, हत्या बलरत्कार और गुंडागर्दी इस सरकार में चरम पर है। जनता का शोषण सारी हदें लांघ गया है और योगी गुजरात का दौरा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने बिजली के दरों में  ६३ प्रतिशत तक वृद्धि कर किसानों उपभोक्ताओं की कमर तोड़ दी है।

धरने को सम्बोधित करते हुए सपा नेता उग्रसेन सिंह ने कहा कि बिजली की बिल में बेतहाशा बढ़ोत्तरी कर सरकार ने अपने आपको जनविरोधी होने का सबूत दे दिया है। उन्होंने कहा कि सपा प्रदेश के गरीब और किसान कि पैरोरकार है। वह असे सहन नहीं करेंगी। जरूरत पड़ी तो इसके लिए पस सरकार से आर पार की लडत्राई लड़ेगी। उन्होंने कहा कि किसानों के पैसे की लूट सपा बर्दाश्त नहीं करेगी।

इस अवसर पर सपा नेता  चिनकू यादव भी प्रदेश सरकार पर जम कर बरसे और कहा कि हर तरफ भय और आतंक का राज है। पुलिस पूरे प्रदेश में लूट खसोट पर उतर आई है। अफसर गरीबों को लूट कर मंि़यों को सुरक्षा टैक्स भर रहे हैं। ऐसे में प्रदेश त्राहि त्राहि कर रहा है। उन्होंने कहा कि इस सरकार ने भ्रष्टाचार के सारे रिकर्ड तोड़ दिये है। अब इस सबक सिखाने का वक्त आ गया है।

धरना और भाषण में पूर्व विधायक लालजी यादव, चेयरमैन इद्रीश पटवारी, झिनकू चौधरी, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष एसपी अग्रवाल, नगरपालिका प्रत्याशी रहे सपा नेता संजय कसौधन,  युवा नेता श्रीराम जायसवाल, अनूप यादव, सोनू यादव, चन्द्रजीत यादव, चन्द्र जीत जायसवाल, बलई जायसवाल, अम्बिकेश श्रीवास्तव, अनुराग जायसवाल, अबूबकर खान आदि शामिल रहे।

(241)

Leave a Reply