दर्दनाक हादसाः बहन की डोली सजाने की तैयारियों लगे भाई शिवम की ही अर्थी सज गई

February 9, 2019 1:54 pm0 commentsViews: 12

सग़ीर ए खाकसार

 

 

बढ़नी, सिद्धार्थनगर। बेहद मासूम सा ,खुशमिज़ाज और प्यारा सा बच्चा शिवम बिरमीवाल  अब हमारे बीच नहीं रहा।महज़ 22 साल की उम्र मे बीती रात नौगढ़-शोहरतगढ़ के बीच एक  भीषण सड़क हादसे में दर्दनांक मौत हो गयी।सड़क हादसे में उसकी बुआ समेत तीन मासूम बच्चे भी बुरी तरह घायल होगये।हादसा इतना भीषण था कि ड्राइवर की भी मौके पर ही मौत हो गयी।ड्राइवर की उम्र भी कमोवेश इतनी ही बताई जा रही है।हालांकि बुआ और बच्चे खतरे से बाहर हैं।ड्राइवर बहादुर गंज का बताया जा रहा।इस दर्दनांक हादसे के बाद कृष्णनागर में मातमी माहौल है।

पड़ोसी मित्र राष्ट्र नेपाल के कृष्णानगर के सुनील बिरमीवाल का पुत्र  शिवम बिरमीवाल एक प्राइवेट फर्म में नौकरी करता था।वह बहुत प्रतिभाशाली व मिलनसार  था।वो अपने पिता का लाडला था और मां की आंखों का तारा और एक बहन का जिम्मेदार भाई भी।उसके परिवार में माता -पिता के अलावा एक बड़े भाई और बड़ी बहन भी है।शिवम घर मे सबसे अलग और मेहनती था ।अपने बात व्यवहार से लोगों को अपना दीवाना बना लेता था।वह आर्थिक रूप से घर में समृद्धि लाने के लिए प्रयत्नशील भी था।

वह बहुत खुश था उसके बहन की 13 फरवरी को शादी थी।छोटी बड़ी एक एक चीजों की तैयारी का ज़िम्मा उसने खुद संभाल रखा था।इसी शादी में असम से शिरकत करने आरही अपनी बुआ  और उनके तीन बच्चों को गोरखपुर से रिसीव करके वापस लौट रहा था कि जिले के चिल्हाया थाने के धुसरी गांव के पुलिया से टकराने पर हादसा हो गया। जिसमें यिवम और कार के ड्राइवर दोनों मारे गये। शिवम की बुआ के  उनके बच्चे भी ज़ख्मी है लेकिन ये सब खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं।

इस हादसे के बाद उसके बड़े भाई शुभम गहरे सदमे में हैं उन्हें कुछ सूझ नहीं रहा है।एक पिता के लिए युवा बेटे की मौत से बड़ा दुःख  भला और क्या हो सकता है। यह खबर उनपर बज्रपात गिरने जैसी है।पिता को इस सदमे ने अंदर तक हिला कर रख दिया है।माँ गहरे सदमें में चली गयी है उसकी आँखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं।बहन ज़ारो कतार रो रही है।माँ और बहन की चीत्कारें सुनकर कलेजा मुंह को आजाता है।

शहर में गम का माहौल है ।इस हादसे को सुनकर सभी सहम जा रहे हैं।उसके दोस्तों ने बताया कि काफी दिनों बाद उसके घर मे खुशियों की बहार आने वाली थी लेकिन उसके असामयिक और दर्दनांक मौत से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा।

 

 

(3)

Leave a Reply