न पढ़ाएंगे, न भोजन देंगे, गांव के बच्चे हैं, किसी अफसर, नेता के नहीं

August 26, 2015 6:23 pm1 comment
न पढ़ाएंगे, न भोजन देंगे, गांव के बच्चे हैं, किसी अफसर, नेता के नहीं

एम सोनू फारूक “सिद्धार्थनगर के रमपुरवापुर दुबे गांव में टीचर न होने से जूनियर हाई स्कूल जुलाई से बंद है। उसी गांव के प्राइमरी स्कूल में पढ़ाई तो चल रही है, लेकिन बच्चों को मिड डे मील नहीं दिया जा रहा है। दो महीनों से व्यवस्था में सुधार के लिए […]

आगे पढ़ें ›

तीन साल गैप करने वालों को नहीं मिलेगा दाख़िला, एडमिशन की अंतिम तारीख 10 सितंबर

August 25, 2015 2:04 pm0 comments
तीन साल गैप करने वालों को नहीं मिलेगा दाख़िला, एडमिशन की अंतिम तारीख 10 सितंबर

“सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी, कपिलवस्तु के कुलपति डा. रजनीकांत पांडेय ने कहा है कि जिन छात्रों के अकादमिक रिकॉर्ड में तीन साल का गैप है, उन्हें यूनिवर्सिटी में दाखिला नहीं मिलेगा। डॉक्टर रजनीकांत ने यह घोषणा एक  हाईलेवल की मीटिंग के बाद की। मीटिंग में यूनिवर्सिटी से संबंद्ध श्रावस्ती और बलरामपुर जनपद के स्ववित्तपोषित […]

आगे पढ़ें ›

शोहरतगढ़ बोला, अब इज़्ज़त की नज़र से देखे जाएंगे स्कूली बच्चे

August 20, 2015 7:37 pm0 comments
शोहरतगढ़ बोला, अब इज़्ज़त की नज़र से देखे जाएंगे स्कूली बच्चे

दानिश फ़राज़ इलाहाबाद हाईकोर्ट के क्रांतिकारी फैसले पर शोहरतगढ़ शहर के लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया ज़ाहिर की है। बाएं से चंदन वर्मा, आमिर हुसैन, हाशिम भाई और राजेश उपाध्याय। सूबे की शिक्षा पर इलाहाबाद हाईकोर्ट का चर्चित फैसला नागरिकों के बीच ज़बरदस्त लोकप्रियता हासिल कर रहा है। लोगों का मानना […]

आगे पढ़ें ›

सपा सरकार हाईकोर्ट के फैसले को अगले सत्र में लागू करे-आजाद

4:28 pm0 comments
Indian schoolchildren write English alphabets on slates at a government primary school in the outskirts of Hyderabad on June 13, 2011, on the opening day of the new academic year. The government of India's Andhra Pradesh state has introduced English as a second language from Class 1 onwards for the 2011-2012 academic year. India's National Knowledge Commission has admitted that no more than one percent of country's population uses English as a second language. AFP PHOTO/Noah SEELAM (Photo credit should read NOAH SEELAM/AFP/Getty Images)

बांसी। इलाहाबाद हाईकोर्ट के ताज़ा फैसले से शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रही संस्थाओं का हौसला सातवें आसमान पर पहुंच गया है। बांसी की तेज़तर्रार संस्था फ्यूचर ऑफ इंडिया ने भी इसका स्वागत किया है। संस्था प्रमुख मज़हर आज़ाद ने कहा है कि कोर्ट के फैसले का हवाला देते […]

आगे पढ़ें ›

डीएम साहब! लोहिया ग्राम विकास के रुपए से अय्याशी हो रही है…

August 16, 2015 2:52 pm0 comments
डीएम साहब! लोहिया ग्राम विकास के रुपए से अय्याशी हो रही है…

संजीव श्रीवास्तव “सरकारी स्कूलों में जड़ कर चुके भ्रष्टाचार पर आला अधिकारियों के दौरे भी लगाम नहीं कस पाए हैं। भ्रष्टाचारियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि इस बार अखिलेश सरकार की महत्वाकांक्षी लोहिया ग्राम विकास योजना की मद में आए रुपए से अय्याशी हो गई।” मामला भनवापुर ब्लॉक में […]

आगे पढ़ें ›

मप्र में स्कूलों का संचालन निजी हाथों में सौंपने की कवायद

August 2, 2015 8:13 pm0 comments
मप्र में स्कूलों का संचालन निजी हाथों में सौंपने की कवायद

भोपाल – स्कूल शिक्षा विभाग अपने 1.21 लाख स्कूलों का संचालन निजी हाथों में सौंपने की कवायद कर रहा है। सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए प्राइवेट पब्लिक पार्टनरशिप (पीपीपी) के आधार पर यह प्रयोग अगले शिक्षा सत्र (2016-17) से एक जिले में किया जाएगा। यदि […]

आगे पढ़ें ›

करियर : बढ़ा आई-स्कूल्स का चलन…

8:10 pm0 comments
करियर : बढ़ा आई-स्कूल्स का चलन…

शानदार करियर की राह के सबसे चमकीले माइल स्टोन और हॉटेस्ट ट्रेंड के रूप में प्रसिद्ध हो चुके बी-स्कूल्स के बाद अब एक और ट्रेंड जोर पकड रहा है। ये हैं- आई-स्कूल्स का चलन। आई-स्कूल्स यानी इंफर्मेशन स्कूल्स। इन स्कूलों से निकले विद्यार्थियों को न केवल भारी-भरकम पैकेज दिए जा […]

आगे पढ़ें ›

नौकरी की तलाश , शुरूआत कहाँ से की जाए?

8:07 pm1 comment
नौकरी की तलाश , शुरूआत कहाँ से की जाए?

आपके करियर में ऐसा मोड़ भी आता है जब आप निर्णय नहीं ले पाते कि क्या सही है और क्या गलत? अजय अपनी पढ़ाई पूरी कर नौकरी की तलाश में भटक रहा था। उसे समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर शुरूआत कहाँ से की जाए? अगर आप भी […]

आगे पढ़ें ›