मुकीम या तलत अजीज, आखिर कांग्रेस किस मुस्लिम चेहरे पर लगायेगी दांव?

January 9, 2019 3:14 pm1 commentViews: 2026

— मजबूत सम्पर्कों के बल पर तलत अजीज ने संतकबीर नगर से टिकट का दावा ठोंका

— संतकबीर नगर में मुस्लिम चेहरे के आने की संभावना से डुमरियागंज में मुकीम के प्रतिद्धंदी हुए तेज

नजीर मलिक राहुल गांधी से सियासी गुफ्तगू करतीं कांग्रेस नेता तलत अजीज

सिद्धार्थनगर। मुम्बई की बरसात और सियासी फैसले कोई ठिकाना नहीं। जानकारों की नजर में बस्ती मडंल की मुस्लिम बाहुल्य डुमरियागंज लोकसभा सीट पर पूर्व सांसद मुहम्मद मुकीम का टिकट लगभग तय माना जा रहा था, मगर अचानक गोरखपुर की कांग्रेस नेता तलत अजीज द्धारा मंडल की एक और मुस्लिम बाहुल्य संतकबीरनगर सीट से टिकट का दावा पेश कर मंडल में कांग्रेस की सियासी हलचल बढा दी है।

तलत और मुकीम दोनों हैं कद्दावर चेहरा

मालूम हो कि पूर्व हाजी मुहम्मद मुकीम को बस्ती मंडल में कांग्रेस का कद्दावर चेहरा माना जाता है। डुमरियागंज सीट मुस्लिम बाहुल्य भी है, मगर तलत अजीज गोरखपुर मंडल में कांग्रेस का बड़ा चेहरा तो हैं ही, एआईसीसी की सदस्य भी हैं। इसके अलावा वह कांग्रेस पार्टी के उच्च  तबके में काफी सम्पर्क वाली मानी जाती हैं। वह गोरखपुर के प्रसिद्ध चिकित्सक और पूर्वांचल में बड़ी साख रखने वाले डा़. अजीज साहब की पत्नी हैं। जिनकी अपनी अलग सियासी पकड़ है। इसलिए तलत अजीत की दावेदारी को हल्के में नहीं लिया जा सकता है।

संतकबीर नगर क्यों आना चाह रही हैं तलत अजीज

महाराजगंज जिले से चुनाव लड़ चुकीं तलत अजीत के संतकबीरनगर से लडने का प्रमुख कारण भी है। एक तो वह उनके शहर से सटी हुई सीट है। दूसरी तरफ डुमरियागंज की तरह यह भी मुस्लिम बाहुल्य है। इस क्षेत्र में उनके व उनके पति डा. अजीज साहब का खासा प्रभाव भी है। इसलिए उन्होंने संतकबीरनगर को सबसे सुरक्षित सीट मान कर चुना है। इसके लिए उन्हें कांग्रेस के कई बड़े नेताओं का समर्थन भी प्राप्त है। बताया जाता है कि दिल्ली के कांग्रेसी राजनीति के गलियारे में राहुल गांधी के सबसे करीबी माने जाने वाले कनिष्क सिंह आज की तारीख में बहुत ताकतवर हैं। श्रीमती तलत अजीजएिक निजी सम्बंध के कारण उनके सम्पर्क में है। इसलिए उन्हें पूरा भरोसा है कि अन्ततः वह संतकबीर से टिकट पाने में कामयाब हो जाएंगी।

तलत अजीज आईं तो हाजी मुकीम जायेंगे?

कांग्रेस की पुरानी नीति और राहुल के साफ्ट हिंदुत्व के नाते बस्ती मंडल की तीन सीटों में केवल एक पर ही मुस्लिम उम्मीदवार उतारा जा सकता है। ऐसे में अगर संतकबीर नगर से कांग्रेस की तलत अजीत टिकट पाती हैं तो डुमरियागंज से पूर्व सांसद मुकीम के टिकट की कोई संभावना न बचेगी। लेकिन मु. मुकीम की भी अपनी राजनीतिक पृष्ठिभूमि है, इसलिए उन्हें भी हलके में नहीं लिया जा सकता है। हालांकि तलत अजीज के खेमे में राहुलगाधी के करीबी कनिष्क सिंह का होना उनको फिलहाल आगे किये हुए है।

क्या होगी डुमरियागंज की सूरत?

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता तलत अजीज के संतकबीर नगर से दावेदारी की खबर के बाद इस सीट से टिकट के अन्य दावेदारों यथा ईश्वर चन्द्र शुक्ल और नर्वदेश्वर शुक्ल ने अपनी सक्रियता तेज कर दी है। पीले उनकी गतिविधियां तेज नहीं थीं, इसका कारण था कि मंडल में मुकीम साहब ही एकमात्र मुस्लिम प्रत्याशी थे और वह मानते थे कि मुकीम साहब की इकलौते मुस्लिम की दावेदारीदारी के चलते वह काफी मजबूत हैं।

पूर्व एआईसीसी सदस्य व यूपी कांग्रेस के पदाधिकारी रहे वरिष्ठ कांग्रेसी नर्वदेश्वर शुक्ला के कांग्रेस पार्टी में ऊंचे सम्पर्क हैं।कई बार उन्होंने अपने इस प्रभाव का प्रमाण दिया है। दूसरी ओर पूर्व विधायक ईश्वर चंद शुक्ला कांग्रेस पार्टी उत्तर. प्रदेश के उपाध्यक्ष हैं। दोनों ही चुनाव लड़ने में पूर्णतयः समर्थ हैं। खैर यह चुनावी राजनीति का प्रारंभिक चरण है। जिससे दोनों जिलों का राजनीतिक तापमान बढ़ा हुआ है। फिलहाल आगे की ब्रेकिंग के लिए कपिलवस्तु पोस्ट पर नजर बनाए रखिए।

 

(1931)

Leave a Reply