डीएसओ ने कार्यवाही का भरोसा देकर आमरण अनशन कराया सामाप्त 

December 20, 2018 10:21 am0 commentsViews: 63

निज़ाम अंसारी


सिद्धार्थनगर। नगर पंचायत शोहरतगढ़ के दो कोटेदारों के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहे सभासद संजीव जैसवाल, बाबूजी व समाज सेवी सुरेश मिश्रा ने आज तहसील प्रांगण शोहरतगढ़ में डीएसओ कुंवर दिनेश प्रताप सिंह द्वारा कोटेदारों पर कार्यवाही न करने के कारण आमरण अनशन पर बैठे थे।

आमरण अनशन की सूचना शासन सत्ता के लोगों को जैसेे ही लगी तो तत्काल ही हिन्दू युवा वाहिनी के देवी पाटन मंडल अध्यक्ष सुभाष गुप्ता तहसील पर पहुँच कर डीएसओ से कड़े फ्लेवर में बात की और तत्काल कार्यवाही करने को कहा जिस पर आश्वासन दिया गया कि उनको आज ससपेंड किया जा रहा है और दस दिन बाद उनका लाइसेंस खत्म कर दिया जाएगा।

अस्वाशन पर आमरण अनशन समाप्त कर दिया गया । सुभाष गुप्ता ने मौके पर लोगों को संबोधित करते हुवे कहा कि कोई व्यक्ति हो, अधिकारी हो या संस्था हो शासन की मंशा के विपरीत चलने की कोशिश न करे अधिकारियों द्वारा कोटेदारों को बचाने से कहीं न कहीं सरकार की छवि धूमिल हो रही थी उन्होंने भविष्य में जनता की शिकायतों पर गंभीरता से ध्यान देने को कहा।

अनशन समाप्त करने वाले लोगों से कार्यवाही के संबंध में रिपोर्टर के पूछने पर सभासदों ने बताया कि सुभाष गुप्ता नगर पिता हैं हमें उनपर भरोषा है । इस दौरान अनशन पर बैठे संजीव जैसवाल, बाबू जी, सुरेश मिश्रा के साथ नगर पंचायत बढ़नी के सभासाद श्यामदेव यादव अपने साथियों के साथ डटे रहे वहीं प्रशासन की तरफ से एसडीएम शोहरतगढ़, स्थानीय पूर्ति निरीक्षक, क्षेत्रीय पूर्ति निरीक्षक व लोकल इंटेलिजेंस विभाग के विनोद राय रहे।

कस्बे के नागरिक बाबा फरीद, वकील खान, मुन्नू , रविंदर वर्मा, कृष्ण पाल चौधरी, दुर्गेश अग्रहरि आदि उपस्थित रहे।

बताते चलें कि पिछले एक दिसंबर को ही कोटेदारों के विरुद्ध जांच हो गई थी जिसमें एस डी एम शोहरतगढ़ व स्थानीय पूर्ति निरीक्षक एस के दुबे ने आरोपों की पुष्टि करते हुवे कार्यवाही के लिए जिले के आला अधिकारी के पास भेज दिया था परंतु कार्यवाही नहीं हुई ।
आमरण अनशन करने वालों ने मुख्य रूप से तीन मांगे रखी थी ।
बड़ी बात यह कि पूरे नगर पंचायत में कोटेदारों की मनमानी हो रही है और यह लड़ाई पूरे कस्बे की थी जिसे नगर पंचायत के दो सभासद ही लड़ रहे थे और जीत की तरफ पहला कदम भी बढ़ाया।

(48)

Leave a Reply