गेहूं खरीद में गड़बड़ी मिलने पर क्रय केन्द्र प्रभारी जायेंगे जेल- कुणाल सिल्कू

March 28, 2019 2:46 pm0 commentsViews: 144

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। ग्रेहू क्रय केन्द्र प्रभारियों के साथ जिलाधिकारी कुणाल सिल्कू की अध्यक्षता एवं अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) सीताराम गुप्ता, एवं ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सौम्या पाण्डेय की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक संपन्न हुई। बैठक में डीएम कुणाल सिल्कू ने कहा कि गेहूं खरीद में गड़बड़ी मिलने पर केन्द्र प्रभारी पर एफआईआर दर्ज करा जेल भेजा जायेगा।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी कुणाल सिल्कू ने जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी संजय पाण्डेय को निर्देश दिया कि गेहूॅ की खरीददारी में कोई भी गड़बड़ी नही होनी चाहिए। यदि कही से शिकायत मिलती है तो संबधित क्रय केन्द्र प्रभारी के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करके एफआईआर दर्ज करायी जायेगी।

लघु एवं सीमान्त कृषकों को मंगलवार, शुक्रवार को अलग से कैम्प लगाकर खरीददारी की जायेगी। सचिव मण्डी समिति नौगढ़ को जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि कांटा, बोरा, पंखा, नमी मापक यंत्र जो भी खरीददारी होगी वह समिति द्वारा की जायेगी। जिलाधिकारी ने समस्त केन्द्र प्रभारियों को निर्देश दिया कि प्रत्येक क्रय केन्द्र पर पोस्टर तथा वाल पेन्टिंग होनी चाहिए।

जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी संजय पाण्डेय ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में गेहूॅ 1840 रूपये प्रति कुन्तल निर्धारित किया गया है। 20 रूपये प्रति कुन्तल सफाई के लिए अलग से दिया जायेगा। गेहूॅ क्रय की अवधि 01 अप्रैल 2019 से 15 जून 2019 तक निर्धारित की गयी है। क्रय केन्द्रों पर प्रातः 9.00 बजे से सायं 6.00 बजे तक तौल की जायेगी।
इस बैठक में उपरोक्त के अतिरिक्त पी.सी.एफ. मैनेजर सुरेश त्रिपाठी, तथा समस्त केन्द्र प्रभारियों की उपस्थिति रही।

 

 

 

 

सिद्धार्थनगर 27 मार्च 2019/आयुष औषधि क्रय समिति की बैठक जिलाधिकारी श्री कुणाल सिल्कू की अध्यक्षता तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 आर0के0मिश्र की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संपन्न हुई।
बैठक की अध्यक्षता कर रहे जिलाधिकारी श्री कुणाल सिल्कू ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि जनपद में आयुष औषधि के क्रय हेतु जो भी एजेसिया आ रही है उनके मानक की स्पष्ट रिपोर्ट प्रस्तुत करें। प्रस्ताव निर्धारित तिथि तक फर्म द्वारा अवश्यक प्रस्तुत किया जाये। प्रस्ताव बनाने वाले फर्म का स्पष्ट दवाओं के नाम व मांग आनी चाहिए तथा पूरे शासनादेश का उल्लेख होना चाहिए। फर्म का रेट निर्धारित होना चाहिए। बैठ में जिला आयुर्वेदिक अधिकारी अनुपस्थित पाये जाने पर जिलाधिकारी श्री कुणाल सिल्कू ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते उनका स्पष्टीकरण प्राप्त करने का निर्देश मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिया गया।
इस बैठक में उपरोक्त के अतिरिक्त आयुष औषधि क्रय समिति के सदसयों की उपस्थिति रही।
जिला सूचना कार्यालय, सिद्धार्थनगर द्वारा जनहित में जारी।

(139)

Leave a Reply