राम–रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत नेपाल के पोखरा में, शीघ्र ही दबोचे जाने की संभवना, सुरक्षा एजेंसियां पीछे लगीं

September 19, 2017 8:32 pm0 commentsViews: 329

 

–––फेवा झील के पर डेरा सच्चा सौदा समर्थक किसी पहाड़ी गांव में शरण लिए हुए है हनीप्रीत
–––विदेश भागने के प्रयास में लगी होने कीखबरें, नेपाल में फर्जी पासपोर्ट बनाना अपेक्षकृत आसान

नजीर मलिक


सिद्धार्थनगर। बाबा राम रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत पोखरा में छुपी हुई है। इस खबर के बाद भारत नेपाल की सुरक्षा एजेंसियां सर्तक हो गई हैं। इससे पहले कि हनीप्रीत वहां से भाग ले, सुरक्षा एजेंसियां उसे दबोच लेना चाहती हैं। इसके लिए भारत की सुरक्षा एजेंसियों ने नेपाली अधिकारियों से भी सम्पर्क साधा है। इसके बाद पोखरा में नेपाली पुलिस भी सकिय हो गयी है।
पोखरा में कहां हो सकती है हनीप्रीत

हरियाना से भाग कर हनीप्रीत नेपाल पुहंच चुकी है, अब यह ढकी छुपी बात नहीं रह गई है। इस सूचना के बाद हरियाण पुलिस व एसटीएफ ने अन्य सुरक्षा एजेंसियों की मदद से उसकी तलाश शुरू कर दिया है। लेकिन वह कहां छुपी है, यह पता नहीं चल पा रहा है। वैसे सूत्रों का कहना है कि उसके साथ के लोग पोखरा शहर के लेक साइड एरिया में अलग अलग होटल में रह रहे हैं।

जहां तक हनीप्रीत का सवाल है सूत्रों का कहना है कि फेवा लेक के बाराही देवी मंदिर के पार की पहाडियों में बसे गांवों में राम रहीम के हजारों समर्थक रहते हैं। हनीप्रीत उन्ही के बीच छिपी हुई है। वहीं से वह नेपाली फोन नम्बर से हरियाणा के हालात पर नजर रख रही है। दरअसल फेवा लेक इलाके में भारत समेत दुनियां भर के पर्यटक आते हैं। ऐसे में उनके बीच हनीप्रीत आसानी से छिप सकती है। क्योंकि आमतौर पर वहां अल्ट्रामार्डन युवतियों की भारी भीड रहती है।फरार हो सकती है विदेश

खबर है कि नेपाली वेशभूषा अपना कर रहने वाली हनीप्रीत को अच्छी तरह मालूम है कि वह पोखरा में अधिक देर तक सुरक्षित नहीं रह सकती। इसलिए वह फर्जी पासपोर्ट से विेश भागने के जुगाड़ में हो सकती है। नेपाल में ऐसे पासपोर्ट आसानी से बन सकते हैं और अतीत में लोगों ने ऐसा किया भी है। सुरक्षा एजेंसियों को इस बात का डर हैं, इसलिए वह उसे फरारी से पहले ही दबोचने की फिराक में है। इसके लिए उसने पोखरा में अपना नेटवर्क बिछा दिया हैं। सूत्र कहते हैं कि वह दो तीन दिन के भीतर गिरफ्तार भी हो सकती है।
कैसे पहुँची पोखरा

दरअसल पुलिस को हनीप्रीत के नेपाल में होने की खबर पहले ही मिल गई थी। उस वक्त वह नेपाल के सुनसरी जिले के इटहरी में थी। उसके साथ अलग कारों में चार लोग और थे। रात तीन बजे वह इटहरी में पुलिस के घेरेबंदी से निकल भागी और पोखरा पहूंच गई।पोखरा में डेरा सच्चा सौदा है।आमख्याल है कि वह वही छूपी है, लेकिन सू़त्र बताते हैं कि वह डेरा समर्थक किसी पहाड़ी गांव में रह रही है।
एसपी ने कहा
इस बारे में एसपी सत्येन्द्र कमार ने कहा कि हमार बार्डर पूर तरह से तगड़ी निगरानी में है। बार्डर पर हर तरफ उसके फोटो लगे है। वह बार्डर से न जा सकती है न आ सकती है। वैसे नेपाल के अंदर उनका कोई दखल नहीं है। सह काम हाई लेबल का है। उनकी पुलिस सिर्फ बार्डर पर निगरानी कर सकती है।

Leave a Reply