झूठा है सबके विकास का नारा, सीएम के आगमन पर सरकारी विज्ञापन में विपक्षी एमएलए का नाम नहीं

August 10, 2017 1:04 pm0 commentsViews: 7

एस.पी. श्रीवास्तव

गोरखपुर। मुख्यमंत्री के गोरखपुर आगमन पर डूडा द्वारा जारी विज्ञापन में चिल्लूपार के विधायक विनय शंकर तिवारी का नाम न शामिल करने पर उनके समर्थकों में आक्रोश है। उन्होंने डूडा के इस कृत्य को सबका साथ सबका विकास नारे का अपमान बताया है।

उनके समर्थकों ने जिले के अन्य आठ विधायकों का नाम विज्ञापन में प्रकाशित कराने और चिल्लूपार विधायक की अनदेखी करने पर आरोप लगाया है कि भाजपा सरकार का सबका साथ-सबका विकास नारा खोखला है, आज यह साबित भी हो गया।पूर्व जिला पंचायत सदस्य सत्य प्रकाश यादव, बसपा नेता दिलीप कुमार, मंटू तिवारी, अरविंद सिंह प्रधान व सदन तिवारी प्रधान ने एक बयान में कहा कि सबको साथ लेकर चलने और सबको सम्मान देने की बात होती तो मुख्यमंत्री के बुधवार को हुए कार्यक्रम में डूडा द्वारा जो विज्ञापन प्रकाशित कराया गया, उसमें चिल्लूपार के विधायक विनय शंकर तिवारी का नाम भी शामिल कराया जाता।

उन्होंने कहा कि वास्तव में भाजपा सरकार भेदभाव की राजनीति करने वाली सरकार है। विधायक श्री तिवारी के समर्थकों ने कहा कि गोरखपुर जिले में नौ विधायक हैं, आठ विधायक भाजपा के हैं। उनका नाम तो सरकारी कार्यक्रम के विज्ञापन में शामिल किया गया, लेकिन बसपा विधायक के नाम की जानबूझकर अनदेखी की गयी। उन्होंने कहा कि यह परंपरा रही है कि जब भी कोई सरकारी कार्यक्रम होता है तो संबंधित क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों का नाम सरकारी विज्ञापन में बिना दलीय भेदभाव के प्रकाशित कराया जाता है। पर डूडा के विज्ञापन में सरकारी कार्यक्रम को भाजपाई कार्यक्रम बनाकर रख दिया गया।

Leave a Reply