गोरखपुर,बस्ती व देवीपाटन मंडल के दर्जन भर सांसदों पर संघ के नजरें टेढ़ी, गिर सकती है गाज

April 30, 2018 2:48 pm0 commentsViews: 1944

 

एस. दीक्षित

 

 

लखनऊ। हाल में ही हुई संघ की एक बैठक में यूपी के चालीस भाजपा सांसदों की छवि ठीकठाक नहीं मानी गई है। इन सासदों का आगामी चुनाव में टिकट काटने या उनके क्षेत्र बदलने की जरूरत बताई गई है। इनमें देवरिया के कलराज मिश्र जैसे वरिष्ठ नेता और सांसद भी शामिल हैं। संघ के इस नजरिये के लीक होकर बाह आने के बाद राजनीतिक हलकों में खलबली मची हुई है।

सूत्रों के अनुसार संघ का मानना है कि यूपी के सभी भाजपा सांसदों में लगभग चार दर्जन सासंदों में की छविखराब बताते हुए कहा गया है कि इनमें से कुछ सांसदों का क्षेत्र बदनल का आजमाया जा सकता है, मगर तकरीबन २५ से ३० सांसद ऐसे हैं जिनकी छवि इतनी खराब है कि उनका जीत पाना लगभग असंभव है। इसलिए उनका टिकट काटा जाना जरूरी है।

 यूपी के जिन चार दर्जन सांसदों की सूची बनाई गई है उसमें आधे सांसद पूर्वी उत्तर प्रदेश के हैं जिनमें देवरिया जिले के दिग्गज भाजपा नेता कलराज मिश्र का भी नाम हैं। इसके अलावा देवी पाटन मंडल से ददन मिश्रा, का नाम प्रमुख है। इस सूची में बस्ती मंडल के तीनों सांसद, मसलन सिद्धार्थनगर से जगदम्बिका पाल, बस्ती से हरीश और संतकबीर नगर से शरद त्रिपाठी का नाम शामिल है।

फिलहाल संघ के इस नजरिये का सरकार और संगठन पर कितना प्रभाव पड़ेगा, यह तो बाद की बात है, लेकिन पता चला है कि सिद्धार्थनगर में वर्तमान में सिटिंग एमपी जगदम्बिका पाल के मुकाबले टिकट के कई दावेदार खड़े हो गये हैं। इनमें इटवा के विधायक सतीश दुबे का नाम भी लिया जा रहा है। इसके अलावा आबाकरी मंत्री जयप्रताप सिंह व विधायक डुमरियरगंज का नाम भी उछाला जा रहा है। यद्यपि इन तीनों ने अभी खुद इसे स्वीकार नहीं किया है। हां भाजपा के क्षेत्रय मंत्री गोविंद माधव जरमर चुनाव लड़ने की ख्वाहिश जाहिर कर चुके हैं।

 

 

 

(1860)

Leave a Reply