भाजपा विधायक ने संघ से जुड़े मंदिर के महंथ का गाल तमाचों से लाल कर दिया

September 3, 2017 1:32 pm0 commentsViews: 452

गोरखपुर ब्यूरो

मंदिर के महंथ द्धारा पार्टी अध्यक्ष लिखा गया पत्र व साथ में विधायक तिवारी

गोखपुर। सत्ताधारी दल के विधायक ने मंदिर के महंथ कुबेरनाथ को तड़ातड़ कई चांटे लगाये और मां– बहन की गालियों से नवाजते हुए कहा, तुम्हे तो पता है कि मुझे एसटी डान (सुरेश तिवारी डान) कहा जाता है। यह कहने वाला शख्श सत्ताधारी दल के एमएलए नहीं, वरन किसी कुख्यात माफिया गैंग के गैंगेस्टर जैसी हरकतें करता है। महंथ कुबेर नाथ मठ–मंदिर संघ के अध्यक्ष व संघ से गहराई से जुड़े हैं। उन्हें पीटने के लिए बड़ा कलेजा चाहिए। ऐसे में अब तो मानना पड़ेगा की उन्हें पीटने वाले विधायक सुरेश तिवारी वाकई कलेजे वाले डान हैं।

खबर है कि हाल ही इस भाजपा विधायक ने एक प्रभावशाली नेता और एक बड़े शिवमंदिर के  महंथ को न सिर्फ सार्वजनिक रूप से बेइज्जत किया, बल्कि इस महंथ के चेहरे पर ताबड़तोड़ तमाचे भी रसीद कर दिये। गालियां तो बेहिसाब बकीं इस विधायक ने, और कहा कि मैं तुम्हारा जीना हराम कर दूंगा। तुम अभी मुझे जानते नहीं हो। पूना तक के लोग मुझे एसटी डॉन के नाम से पहचानते  है।

आपको बता दें कि देवरिया जनपद के मठ मंदिर प्रकोष्‍ठ के जिलाध्यक्ष और संघ के नेता कुबेर नाथ भारती ने बरहज के विधायक सुरेश तिवारी पर अपशब्दों के प्रयोग के साथ ही थप्पड़ मारने का आरोप लगाया है। कुबेर नाथ भारती ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को सुरेश तिवारी द्वारा किये गए दुर्व्यवहार के सम्बंध में पत्र भी लिखा है। कुबेर नाथ ने बताया कि विगत तीन दिन पहले विधायक सुरेश तिवारी अपने लाव-लश्‍कर के साथ यहां के एक बड़ा बाबा मसीड़ा नाथ शिव मंदिर में आये थे। आपको बता दें कि कुबेर नाथ इसी मंदिर के महंथ हैं।

जनसंघ के जमाने से ही हिंदुत्व का झंडा थामे रहे महंथ कुबेरनाथ बताते हैं कि मंदिर में शिव दर्शन और मंदिर का भ्रमण करने के बाद विधायक सुरेश तिवारी ने सड़क के दूसरी ओर बने एक सरकारी प्रसूति गृह का भ्रमण करना शुरू कर दिया। इसी बीच एक कार्यकर्ता ने इस अस्‍पताल में फैली गंदगी पर चर्चा शुरू कर दी। इस पर कुबेर नाथ ने सार्वजनिक रूप से कह दिया कि इस अस्‍पताल की हालत तब ही सुधर पायेगी, जब बड़े नेता भी अपने स्थानीय क्षेत्रों में भ्रमण कार्यक्रम के दौरान इस अस्‍पताल का भ्रमण कर लें। मसलन, सांसद वगैरह। इससे अफसरों पर दबाव भी पड़ेगा।

कुबेर बताते हैं कि यह सुनते ही सुरेश तिवारी का पारा आसमान तक पहुंच गया। वे झपटते हुए कुबेर नाथ के सामने आये और बिना किसी विलंब के ही कुबेर नाथ के चेहरे पर तड़ातड़ चांटे रसीद करने लगे। साथ ही मां-बहन की सारी गालियां भी परोस डालीं। इतना ही नहीं, सुरेश तिवारी ने तो यहां तक कह दिया कि कुबेर

नाथ की जिन्‍दगी तबाह कर दूंगा। किसी लायक नहीं छोडूंगा तुझे। बहरहाल, कुबेर नाथ ने इस पूरे हादसे पर भाजपा के शीर्ष नेतृत्‍व को एक पत्र लिख कर अवगत करा दिया है।

उधर बता दें कि एसडी डॉन वाला यह फिल्‍मी डायलॉग देवरिया जनपद के बरहज से बीजेपी के विधायक सुरेश तिवारी का है, जो देवरिया जिले में वर्ल्ड-फेमस हो चला है। ठीक उसी तरह जैसे बलिया के इंटरनेशलन-गेम। बहरहाल, इस डायलॉग के दो तीन शब्दों से ही कोई भी बुद्धजीवी बता देगा कि ये किसका डायलॉग है। अब हम आपको बता दें कि एसडी डॉन का मतलब होता है सुरेश तिवारी डॉन। स्थानीय नागरिकों ने बताया कि सुरेश तिवारी जी की छवि अब बकलोल-बुड़बक की होती जा रही है।

पांचवी पास विधायक सुरेश तिवारी का रसूख इतना ज्यादा है है कि कभी कोई इनकी मुखालिफत नही करता। मोदी लहर में बीजेपी के टिकट से विधायक बने तिवारी जी बसपा से रुद्रपुर के भी विधायक रह चुके है। अगर बात करे मोदी लहर की तो वाकई ये लहर ऐसी थी कि भेड़ बकरियां भी चुनाव जीत लेती। वैसे तिवारी जी तो पूर्व विधायक भी रहे है। ऐसे में उनका चुनाव जीत जाना कोई बड़ी बात नही।इस पूरे प्रकरण पर भाजपा विधायक सुरेश तिवारी से पक्ष जानने के लिए हमने कई बार मोबाइल पर सम्‍पर्क करना चाहा, लेकिन उनका फोन नहीं उठा। mbc

 

 

 

 

(0)

Leave a Reply