वाह बीएसएǃ अध्यापिकाओं ने अश्लील गानों पर डांस कर, दिया बालिकाओं को कौन सा सबक

March 14, 2019 5:33 pm0 commentsViews: 1835

— अध्यापिकाएं कूल्हे मटकाती रहीं, अध्यापक सीटियां बजाते रहे रहे और बच्चियां सर झुकाए शर्म से जमीन में गड़ती रहीं 

 

नजीर मलिक

बर्डपुर ब्लाक में मीना मंच प्रोग्राम में अश्लील डांस करती एक अध्यापिका

सिद्धार्थनगर।  बालिका शिक्षा के तहत नड़कियों के लिए बनाये गये कार्यक्रम में महिलर टीचरों का फिल्मी गानों पर अश्लील डांस प्रस्तुत होने का विडियों वायरल होने किे श्बिेसिक क्षिक्षा विभाग में भूकंप आ गया है। शिक्षा विभाग के कार्यक्रम में “मीना मंच” का काम बच्चियों का स्किल डेवलपमेंट है, मगर उनकी महिला गुरूओं ने इस डांस के जरिये बच्चियों को डांस की प्रेरणा दिया। उससे भी दुखद यह है कि बेसिक शिक्षा विभाग इस धिनावनी हरकत पर चुप्पी साधे हुए है।

मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को जिले के शिक्षा पवभाग के ब्लाक संसाधन केन्द्र बर्डपुर में मीना मंच कार्यक्रम के लिए अध्यापिकाओं को ट्रेनिंग दी जा रही थी, लेकिन अध्यापिकाएं ट्रनिंग के बजाये डांस कर रही थीं। भोडे अंदाज में वे “होठों में ऐसी बात, जुबा पे चली आई” जैसे गीत कूल्हे मटका कर गा रही थीं। जगकि मीना मंच का उद्देश्य बालिकाओं में नपेतृत्व क्षमता का विकास, आत्म अभिव्यक्ति के कोशल को निखरने के अलावा लिंग भेद आदि के खिलाफ संघर्ष क्षमता का विकास करना था।

उस प्रोग्राम में  सज संवर कर अध्यापिकाएं कमर हिलाती और कूल्हें मटकाती रहीं रहीं और उनके अध्यापक साथी साइड गैलरी में बैठ कर फब्तिया कसते रहे।  बच्चियां शर्म से सर झुाकाए शर्म से  बैठी देखीं गई। सोचने की बात है कि इसके इतर अध्यापिकाएं जो सीख रही थीं, एक ट्रेनर के रूप में वहीं बच्चियों को सिखा कर आखिर वह भावी पीढ़ी को कौन संदेश देना चाह रही थीं। मजे की बात तो यह है कि इस पूरे घटनाक्रम का विडियों वायरल हाने के बावजूद भी अभी तक शिक्षा विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

(1785)

Leave a Reply