सेक्स स्कैंडल हो सकता है मुश्ताक के कत्ल की वजह, कथित कातिल की शिनाख्त हुई, मगर नहीं पता चल रही हत्या की वजह ?

March 3, 2018 5:09 pm0 commentsViews: 2710

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। यहां शहर के आजाद नगर मुहल्ले के 37 साला नौजवान पप्पू उर्फ मुश्ताक के वहशियाना कत्ल का खुलासा हो गया है। उसे बेहद टार्चर करने के बाद कत्ल किया गया। मगर पप्पू के इस बेरहमी से कत्ल की वजह क्या थी, यह पता नही चल पा रहा है। थाना सिद्धार्थनगर की पुलिस का कहना है कि तस्वीर आरोपी के पकड़े जाने के बाद ही साफ हो सकेगी। फिलहाल आरोपी फरार है। उसके नेपाल भाग जाने की आशंका है। यह एक बड़ा सेक्स स्कैंडल भी हो सकता है।

दरअसल पप्पू की लाश कल पड़ोसी जनपद महाराजगंज जिले के पुरंदरपुर जंगल में मिली थी। छानबीन के बाद मुकामी पुलिस को पता चला  कि पप्पू का कत्ल 1 मार्च की शाम सिद्धार्थनगर शहर से सटे गांव जगदीशपुर  में हुआ था आरोप है कि उसे गांव के नीरज रस्तोगी ने अपने घर में बहुत बेरहमी से कत्ल किया था, कत्ल करने के पहले उसके होंठ स्टेपुलर से सिल दिये गये थे। इसके बाद उसका गला काटा गया तत्पश्चात उसकी लाश को बोरे में बंद भर कर बोलेरों जीप से 40 किमी दूर पुरंदरपुर जंगल में फेंक दी गई।

इस बारे में सिद्धार्थनगर थाने के पुलिस हिरासत में मौजूद बोलेरों चालक गिरि बाबा ने बताया कि उसे लाश के बारे में शुरु में पता न था। उसे लगा कि बोरे में कोई सामान है। जब बोरे को जंगल में फेंका गया तो उसे समझ में आया कि यह किसी की लाश है। लाश् फेंकने वालों में नीरज रस्तोगी और उसके साथी थे। उसने बताया कि वह एक बोरे में सामान जंगल में लाया था, जों पप्पू की ही लाश् थी।

मामला क्या था?

घटनाक्रम कुछ इस तरह है। 1 मार्च को मुख्यालय से सटे ग्राम जगदीशपुर के व्यापारी नीरज रस्तोगी के परिजनों ने पुलिस को खबर दी कि उनके घर में बनी दूकान में खून बिखरा है। किसी ने 30 साल के नीरज रस्तोगी का मर्डर कर दिया है और कातिल लाश लेकर फरार हो गया है। शक पप्पू पर जाहिर किया गया। उसके बाद पप्पू के परिजनों ने थाने में तहरीर दिया कि पप्पू गायब है, इसकी तलाश की जाये।

बहरहाल 2 मार्च को को पुरंदरपुर में मिली लाश की शिनाख्त सिद्धार्थनगर के आजादनगर मोहल्ले के पप्पू के रूप मे हुई और नीरज रस्तोगी का पता न चला।  छानबीन के दौरान पता चला कि कत्ल के वक्त पप्पू नीरज की दुकान पर देखा गया था। इधर नीरज के गाायब होने का भी मामला था। अन्तत्ः वाहन चाल को हिरासत में लिया और उसने लाश को पुरंदरपुर जंगल में फेंकने की बात स्वीकार कर ली।

पप्पू के कत्ल की वजह क्या थी?

अब सवाल यह है कि पप्पू के कत्ल की वजह क्या था? पुलिसिया पूछताछ में बोलेरो चालक गिरि इस बारे में कोई जानकारी नही दे पा रहा है।  घटना क्रम से जुड़ा नीरज भी फरार है, इसलिए असली वजह साफ नहीं हरो पा रही है। पुलिस पैसे के लेन देन,  अवैध सम्बंध और दोस्ती में दगा आदि मुद्दों पर ध्यान रख कर छानबीन कर रही है, मगर अभसी मामला स्पष्ट नहीं है। थानाध्यक्ष ने बताया कि हत्या के कारणों से 24 घंटे में पर्दा उठ जायेगा।

क्या है कयासबाजी?

इस बारे में शहर में तरह तरह की कयायबजी चल रही है। सैकडों लोग इस हत्याकांड के पीछे अवैध सम्बंध जोड़ रहे हैं। कुछ का कहना है कि मामला रुपये के लेनदेन का है, क्योंकि पप्पू छोटे व्यापारियों को बैंकों से लोन दिलाता था और उसकी किश्त वसूलने खुद जाता था। लेकिन एक  चर्चा यह भी है कि पप्पू घटना के दिन नीरज के घर गया और वहां उसने कुछ अनैतिक काम देखा। यह बात सार्वजनिक न हो जाये इसलिए उसका मर्डर करना जरूरी हो गया।

नीरज के पकड़े जाने पर ही होगा खुलासा

बहरहाल पप्पू के इस वहशियाना कत्ल की वजह साफ नही है। नीरज भी घर से गायब है, इसलिए सच से पर्दा नही उठ पा रहा। इसलिए कत्ल के खुलासे के लिए नीरज का मिलना जरूरी है और नीरज फरार है। सूत्र बताते हैं कि वह नेपाल में छिपा हुआ है। इस मामले में पुलिस का कहना है कि नीरज चाहे जब पुलिस हिरासत में आये, लेकिन पप्पू के कत्ल की वजह 24 घंटे में मालूम हो जायेगी।

 

 

(2380)

Leave a Reply