बीस साल की नेहा को दहेज के लिए नहीं, बलात्कार में नाकामयाब होने पर मारा गया

May 17, 2016 7:11 am0 commentsViews: 533

नजीर मलिक

एसपी की प्रेसवार्ता के दौरान पुलिसजनों के बीच खड़ा अभ्यिुक्त रिंकू

                                                            एसपी की प्रेसवार्ता के दौरान पुलिसजनों के बीच खड़ा अभियुक्त रिंकू

सिद्धार्थनगर। लोटन कोतवाली के अजाने गांव की रहने वाली नेहा की हत्या दहेज के लिए नहीं हुई थी, बल्कि उसके एक रिश्तेदार ने रेप के प्रयास में विफल हाने पर उसे मार डाला था और उसकी लाश घर के कुंडे में टांग दी थी।

यह खुलासा लोटन पुलिस ने किया है। बता चला है कि महाराजगंज जिले के पनियरा कि रहने वाले रिंकू ने 20 साल की पूजा की हत्या की थी। रिंकू असल में नेहा का रिश्तेदार था। वह अकसर अजाने गांव आता रहता था। एक सप्ताह दिन पूर्व भी वह गांव आया था और पति की अनुपस्थिति में उसने दुकर्म की कोशिश की थी।

पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद उसने घटना की छानबीन की तो दूसरे तथ्य सामने आये, जिसकी बिना पर उसने रिंकू को गिरफतार किया। उसने अपना जुर्म कबूल भी कर लिया है। एसपी की प्रेसवार्ता के बाद उसे जेल भेज दिया गया है।

कैसे मरी थी नेहा?

नेहा संतकबीर नगर के मेंहदावल के भूरापाली गांव के अनिरुद्ध चौधरी की बेटी थी। 11 महीने पहले उसकी शादी अजाने में लिहाउ के बेटे सुदामा से हुई थी। उसके पति और ससुर बाहर नौकरी करते थे। घर पर केवल महिलाएं ही रहती थीं।

सप्ताह पूर्व उसकी लाश मकान के कुंडे से लटकी पाई गई थी। नेहा के मायके वालों ने इसे दहेज हत्या बता कर मुकदमा भी लिखाया था, लेकिन जांच में पुलिस को दूसरा तथ्य मिला। घर में किसी पुरुष के नहीं होने का लाभ उठा कर रिंकू ने दुष्कर्म का प्रयास किया और विफल होने पर उसकी हत्या कर दी।

(4)

Leave a Reply