नेपाल के मार्फत भारतीय इलाके में पहुंच रही अखिलेश की सियासी बयार

November 3, 2018 12:26 pm0 commentsViews: 266

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर।लोकगीत गायक धर्मेंद्र सिंह वर्तमान में नेपाल के एफ.एम रेडियो से अखिलेश यादव व उनकी  समाजवादी पार्टी की अलख जगाने में लगे है। जिससे नेपाल सीमा से लगे भारतीय क्षेत्र के 11 तराई जिलों में उनकी पार्टी को राजीतिक दृष्टि से व्यापक प्रचार मिल रहा है।दूसरे अर्थों में नेपाल के माध्यम से भारत में अखिलेश यादव की समाजवादी बयार भेजी जा रही है।

खबर है कि नेपाल के तराई इलाके में नेपाली एफ.एम रेडियो पर रात 9 से 10 बजे तक धर्मेन्द्र सिंह सोलंकी अपना कार्यक्रम पेश करते हैं। जिसमें गोतों के माध्यम से अखिलेश यादव के राजनीतिक कौशल और उनके विकास कार्यो की चर्चा होती है या फिर समाजवादी पार्टी की कट्टर विरोध भारतीय जनता पार्टी व उनके नेताओं के बारे में नकारात्मक गीत गाये जाते हैं।

सपा मुखिया अखिलेश यादव जी पर गाया गया धर्मेंद्र सिंह सोलंकी का गीत “केहू होई लेकिन अखिलेश न होई” नेपाल में खूब पसंद किया जा रहा है। इसके अलावा भाजपा पर कटाक्ष के रूप में गाया गया गीत “ मंदिर वहीं बनायेंगे, तारीख नही बतालायेंगे” जैसा गीत भी जबरदस्त लोकप्रिय हो रहा है। आरक्षण पर समाजवादी पार्टी और भाजपा के स्टैंड पर लिखा गीत काफी प्रभावशाली सिद्ध हो रहा है।

ज्ञातव्य हो कि नेपाल और भारत के तराई बेल्ट में यादवो व पिछडो की अच्छी तादात है जिन्हें अखिलेश यादव खूब पसंद हैं।यही कारण है कि धर्मेंद्र सिंह सोलंकी का अखिलेश यादव जी पर गाया गया गीत रोजाना नेपाल के एफएम रेडियों पर खूब बज रहा है। भारतीय क्षे़त्र में इसका राजनीतिक प्रभाव भी पड़ रहा है।

धर्मेंद्र सिंह सोलंकी के गायन को भारतीय क्षे़त्र के सिद्धार्थनगर, बलरामपुर, महाराजगंज आदि 11 सीमावर्ती जनपदों की जनता भी सुन रही है। इस प्रकार आने वाले लोकसभा चुनावों के लिए नेपाल के माध्यम से इन जनपदों में समाजवादी पार्टी का स्वमेव प्रचार हो रही है तथा अखिलेश यादव की छवि गढ़ी जा रही है। धर्मेन्द्र सोलंकी देवरियाके निवासी हैं। यूपी और बिहार में आज कल वह काफी लोक प्रिय हैं।

 

 

 

 

(244)

Leave a Reply