नवोन्मेष नाट्योत्सवः उत्तराखंड के कलाकारों ने लूट लिया सिद्धार्थनगर का मन

November 17, 2015 8:04 am0 commentsViews: 140

नजीर मलिक

नाटक मंचन के दौरान अभिनय के जलवे बिखेरते कलाकार

नाटक मंचन के दौरान अभिनय के जलवे बिखेरते कलाकार

सोमवार की रात लोहिया प्रेक्षागृह में उत्तराखंड से आये कलाकारों ने सिद्धार्थनगर के लोगों का मन लूट लिया। तीसरे दिन खेले गये नाटक  कथा एक कंस की” में उन्होंने अभिनय के जम कर जलवे बिखेरे।

 कथा एक कंस की” नामक नाटक प्रसिद्ध लेखक दया प्रकाश सिन्हा की कहानी पर आधारित है। यह कंस के बाल्यकाल से लेकर कृष्ण के जन्म की कथा है। कंस बाल्यकाल में कितना दयालु था और किस प्रकार वह क्रूर बना, पूरा नाटक इसी ताने बाने पर आधारित है।

नाटक के माध्यम से संदेश दिया गया है कि जन्म से कोई गलत नहीं होता। स्थितियां उसे गलत, क्रूर बनाती हैं और नकारात्मकता की ओर ले जाती है। कंस भी ऐसे ही हालात का शिकार हुआ।

शाम 6 बजे लोहिया प्रेक्षागृह में उत्तराखंड के कलाकारों ने इस नाटक के मंचन में अपनी अभिनय प्रतिभा का लोहा मनवा लिया। उनके अभिनय के एक एक कोण में पहाड़ के संवेदनशीलता की झलक थी।

कंस के रूप में अखिलेश नारायन का अभिनय बुलंदियों पर रहा। स्वाति की भूमिका में किरण भंडारी ने भी अभिनय का लोहा मनवाया। इसके अलावा अभिषेक नारायण, जागृति कोठारी, राहुल डोबरियाल, शिवम तिवारी आदि ने भी अभिनय के आयामक कायम किये।

बताते चलें कि शहर की सामाजिक सांस्कृतिक संस्था नवोन्मेष ने जिला मुख्यालय पर सात दिनी नाटृय उत्सव का आयोजन किया है। अभी चार नाटकों की प्रस्तुति शेष है। नवोन्मेष के चेयरमैन विजित सिंह ने लोगों से आयोजन में भाग लेने की अपील की है।

(15)

Leave a Reply