मुख्य सचिव ने किया अस्पताल व कालेज का निरीक्षण, कहा- प्राइवेट प्रैक्टिस करने वाले जाएंगे जेल

September 7, 2017 1:18 pm0 commentsViews: 193

एम. आरिफ

इटवा, सिद्धार्थ नगर । मुख्य सचिव वित्त मयंक अग्रवाल  ने मंगलवार को इटवा सीएचसी का निरीक्षण किया। अस्पताल में साफ-सफाई तथा मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी ले उन्होंने व्यवस्था पर संतोष जताया। 12 : 15 बजे सीएचसी पहुँचे मुख्य सचिव इमरजेंसी कक्ष में पहुंचे और वहां की जानकारी ली। उन्होंने ओपीडी पहुंच कर मौजूद मरीजों से अस्पताल में आने वाली परेशानियां पूछीं। जनरल वार्ड, बच्चों के वार्ड का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान एक जगह दीवार पर लगा टाइल्स टूटा मिला, जिसे  प्रमुख सचिव ने तत्काल ठीक कराए जाने का निर्देश दिया। अस्पताल परिसर में सड़ी ,पुरानी गाड़ियों एंव टूटे हुए कुर्सियों को देख कर सीएचसी अधीक्षक को फटकार लगाते हुए तत्काल इन कबाड़ों का नीलाम कराने का निर्देश दिया।

उसके बाद 12: 50 बजे राजकीय कालेज इंद्रिग्रान्ट का निरीक्षण करने के लिए रवाना हुए। 1: 05 बजे ग्राम इंद्रिग्रान्ट में राजकीय इण्टर कालेज पहुँचे जहां सारी व्यवस्था का निरीक्षण करते हुए वापस तहसील दिवस जनता की समस्याओं को सुना गया।

 दोबारा प्राइवेट प्रैक्टिस किया तो जाएंगे जेल

मुख्य सचिव के निरीक्षण के दौरान अस्पताल में इलाज कराने आये ग्राम भीटीया निवासी शंभु प्रसाद ने सचिव मयंक अग्रवाल से शिकायत करते हुए कहा कि प्रतिदिन अधिकतम समय डॉक्टर प्राइवेट प्रैक्टिस करते है और मनमानी रकम वसूली करते है । जिसको गम्भीरता से लेते हुए प्रमुख सचिव वित्त ने सीएचसी अधीक्षक वीके वैध को फटकार लगाते हुए कहा कि अगर दोबारा ऐसी शिकायत मिलेगी तो मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया जायेगा ।

 

(1)

Leave a Reply