RSS विचारक रकेश सिन्हा पर केस, 15 सेकेंड वाले बयान पर लिखाया गया मुकदमा

February 4, 2018 11:31 am0 commentsViews: 444

नेहा जमाल

पटना: खबर आ रही है की दिल्ली विश्वविधालय के प्रोफेसर और आरएसएस चिंतक राकेश सिन्हा के ऊपर पटना सिविल कोर्ट में केस दर्ज कर लिया गया है. भारत अखण्डता को उस समय चोट पहुँची जब एक प्रतिष्ठित विश्वविधालय का प्रोफेसर और टीवी डिबेट का बड़ा नाम राकेश सिन्हा ने न्यूज़ 24 के टीवी शो में खुलेआम मुसलमानों को धमकी दे डाला. श्री सिन्हा ने कहा था “जिस दिन मुसलमानों के उपर प्रतिक्रिया हो जाएगी उस दिन 15 मिनट क्या मुसलमान पन्द्रह दिन भी नहीं टिक पायेंगे.” सिन्हा के इसी ब्यान को लेकर बिहार के युवा नेता महताब आलम ने पटना सिविल कोर्ट में अपने निजी वकील अनुराग आनंद के साथ मिलकर केस फाइल कार दिया है. पेटीशनर अनुराग आनंद ने 01 फरवरी को ही केस दर्ज करा दिया था जिसका केस फाइलिंग संख्या Cr. Case Complaint (P)/1401/2018 है.

मामला क्यों दर्ज करने के पीछे के कारण

महताब आलम का कहना है की “जब अकबरुद्दीन ओवैसी ने देश को तोड़ने के लिए ‘पन्द्रह मिनट’ वाला ब्यान दिया था तब उसे जेल जाना पड़ा था. जबकि आरएसएस के राकेश सिन्हा ने ‘पन्द्रह सेकंड’ का ब्यान दिया, वह भी टीवी डिबेट में ऑन रिकॉर्ड, तब किसी के भीतर इतनी भी साहस नहीं हुई की राकेश सिन्हा से जवाब तलब करें. यानि एक ही तरह के दो मामले जिसमें देश के साम्प्रदायिक सौहार्द का ताना-बाना टूट रहा है के बावजूद पुलिस खामोश बैठी है. इसलिए ही देश के सौहार्द को बनाये रखने एवं इस सौहार्द को तोड़ने वाले के विरुद्ध कड़ी कारवाई रने के लिए केस दर्ज किया गया है.” महताब आलम ने कोर्ट को दिए ब्यान में कहा है की आरोपी राकेश सिन्हा ने दो अलग-अलग धर्मों के बीच में अपने ब्यान से कटुता बढ़ाने का काम किया है. जो की हमारे देश के संवैधानिक मूल्यों के विरुद्ध है.

कौन है महताब आलम?

मह्ताबा आलम बिहार के युवाओं में एक बहुचर्चित नाम है. बिहार के सिवान जिला के रहने वाले है जबकि अपनी पूरी शिक्षा पटना से प्राप्त किया है. पटना शहर के युवाओं विशेष रूप से छात्रों के बीच अतिलोकप्रिय है. उच्च शिक्षा प्राप्त महताब आलम समाजवादी राजनीति के उभरते हुए चेहरा है जो समाजवादी आन्दोलन को सशक्त बनाने में दिन-रात लगे रहते है. भारत भर के समाजवादी एवं सामाजिक न्याय के लिए संघर्ष कर रहे युवाओं के साथ हमेशा खड़े रहते है. उनका साम्प्रदायिक सौहार्द बिगड़ने वालों के विरुद्ध मजबूती के साथ लड़ते है. इसी क्रम में इन्होने राकेश सिन्हा के बयाँ के बाद पटना सिविल कोर्ट में मामला दर्ज कराया है.

(400)

Leave a Reply