विधायक अमर सिंह ने आखिर सांसद जगदम्बिका पाल के खिलाफ क्यों खोला मार्चा?

March 12, 2019 4:23 pm0 commentsViews: 3401

— जगदम्बिका पाल पर जातिवादी होने का आरोप बहुत हल्का, उनके तमाम मुस्लिम भी हैं समर्थक

— शोहरतगढ़ विधानसभा सीट पर होने वाला राजनैतिक परिवर्तन कहीं मतभेद की असली वजह तो नहीं

 

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। जनपद सिद्धार्थनगर के शोहरतगढ़ क्षेत्र के अपना दल विधायक चौधरी अमर सिंह ने अपने ही सांसद और भाजपा नेता जगदम्बिका पाल के खिलाफ जंग का एलान कर दिया है। विधायक ने एलान किया है कि अगर भाजपा ने सांसद पाल को फिर टिकट दिया, तो वे खुला विरोध करेंगे। इस बयान के बाद जिले की राजनीति गर्मा गई है। लोग इसके निहितार्थ निकालने में लगे है।

पाल के खिलाफ क्या बोले विधायक अमर सिंह चौधरी?

शोहरतगढ़ विधायक अमर सिंह ने सांसद अमर सिंह पर बहुत  गंभीर आरोप लगाये हैं। विधायक के अनुसार सासद पाल विशुद्ध जातिवादी दूसरे शब्दों में कहें तो ठाकुरवादी हैं। उनके तमाम प्रतिनिधि उनके मूल जनपद बस्ती के ठाकुर ही हैं। इसलिए ब्रा्ह्मण भी उनसे नाराज हैं। विधायक के मुताबिक सबसे बड़ी बात कि जगदम्बिका पाल दलित और पिछड़ा विरोधी हैं। अगर उन्हें भाजपा पुन्ः टिकट देती है तो वह उनका चुनाव में खुला विरोध करेंगे।

आखिर विधायक क्यों हुए जगदम्बिका पाल से नाराज

बता दें कि जगदम्बिका पाल का शुमार वरिष्ठ सियासतदानों में किया जाता है ऐसे में उन्हीं के सहयोगी दल के विधायक द्धारा इस तरह के आरोपों को हल्के में नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है। इस बारे में लोगों के अपने अपने निहितार्थ हैं, लेकिन आमजन इस सवाल को लेकर बेचैन है कि हाल तक विधायक अमर सिंह और सांसद जगदम्बिका पाल में अच्छी टयूनिंग थी, ऐसे में क्या बात हो गई कि विधायक जी को सांसद के खिलाफ जंग का एलान करना पड़ गया?

इस एलाने जंग की वजह क्या है?

इस बाबत सच भी सामने नहीं आ पा रहा है। सांसद जगदम्बिका पाल ने अभी तक विधायक अमर सिंह के आरोपों पर कोई सार्वजनिक स्पष्टीकरण नहीं दिया है। उधर अमर सिंह भी केवल इतना ही कहते हैं कि सांसद दलित पिछड़ा विरोधी है। लेकिन जानकार कहते है कि विरोध के और ही करण हैं। क्योंकि जिस जगदम्बिका पाल को भाजपा में होने के बावजूद हजारों मुस्लिम वोट करते हैं और उनके कार्यालय पर अच्छी खासी तादाद में मुस्लिम जुटते हैं, उन पर दलित पिछड़ा विरोधी का आरोप साबित कर पाना मुश्किल है। तो सवाल है कि आखिर सच क्या है?

क्या समाजवादी पार्टी हालिया राजनीति है असली वजह

सियासी गलियारों में चल रही चर्चओं को मान जाये तो इसकी वजह हाल में जुड़ी समाजवादी पार्टी की एक राजनैतिक घटना है। बताया जाता है कि बसपा छोड़ कर सपा में आये एक मुस्लिम नेता शोहरतगढ़ से विधानसभा चुनाव का टिकट पाने की आकांक्षा रखते हैं। उनको समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेताओं को समर्थन भी प्राप्त है। गत चुनाव में बसपा के टिकट पर वे दूसरे स्थान पर रहे थे। उन्हीं को हरा कर अमर सिंह भाजपा गठबंधन से चुनाव जीते थे। जानकार बताते हैं कि उक्त मुस्लिम सपा नेता के आने से वहां के एक अन्य नेता को भविष्य में अपना टिकट कटने का भय सता रहा है।

क्या कहते है राजनीतिक प्रेक्षक?

राजनीतिक समीक्षक और टिप्पणीकार बताते हैं कि सपा के पूर्व नेता जो सांसद पाल के सजातीय भी हैं वे पाल के सहयोग से भाजपा में आने की तैयारी में हैं। इससे भाजपा सहयोगी दल अपना दल के विधायक को अपना राजनतिक भविष्य खतरे में दिख रहा है। अब इस खबर में कितना दम है, उस बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता। लेकिन सियासी गलियारों में यही चर्चा टाप पर है। देखना है कि आनिले दिनों में मुकामी सियासत क्या गुल खिलाती है, इसे जानने के लिए कपिलवस्तु पोस्ट ( kapilvastupost.com) पर नजरें बनाये रखिये।

 

 

 

(3337)

Leave a Reply