शोहरतगढ़ः शोचालय निर्माण में ही दिखने लगी भ्रष्टाचार की बदबू

November 27, 2018 1:37 pm0 commentsViews: 421

 

 

नजीर मलिक

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। कस्बा शोहरतगढ़ में स्वछ भारत मिशन के अंतर्गत बन रहे शौचालय में निर्माण कार्य में भारी अनियमितता दबंगई बरती जा रही है। “अरे बनवा लो नहीं तो इलेक्शन आने वाला है, जिसका छूट जाएगा उसका नहीं बनेगा” जैसी बातें कहा कर लाथार्थी को निचोड़ा जा रहा है। शौचालय निर्माण लूट का सरकारी केन्द्र बप कर रह गया है।

नगर पंचायत शोहरतगढ़ में लगभग पांच सौ शौचालय बनने हैं, लेकिन भ्रष्टाचार के कारण इसकी गति इतनी धीमी है कि महीने भर से काम हो रहा है पर अभी तक पूरे कस्बे में एक भी शौचालय पूर्ण रूप से कंप्लीट नहीं देख पाएंगे। शौचालय निर्माण में प्रयोग किये जा रहे घटिया बालू जो धूल से भी गिरे दर्जे का है, सीमेंट ऐसा की उसका नाम उत्तर प्रदेश का पढ़ा लिखा आदमी भी नहीं जानता है और निर्माण कार्य में लगने वाले ईंट की इतनी खराब की कई तो हलो दबाव पर ही टूट जाती हैं।

इस घटिया क्वालिटी के निर्माण सामग्री को लेकर आम जनता में बहुत रोष है कस्बे के आर्य नगर वार्ड में तो कुछ लोगों ने गड्ढा खोदे जाने के बावजूद ठीकेदार को एक ईंटा भी नही रखने दे रहे हैं। उन लोगो ने ठीकेदार से साफ कह दिया है कि जब तक ईंट, सीमेंट और बालू अच्छा नहीं लगाएंगे तब तक निर्माण नहीं करवाएंगे, भले ही उनके परिवार के लोग गड्ढे में गिरते रहेंगे। इसी वार्ड के एक बहुत ही गरीब लाभार्थी ने निर्माण कार्य के दौरान इस्तेमाल हो रहे सामानों को देखकर निर्माण कार्य को तोड़कर ठीकेदार को भगा दिया और अपने पैसे से निर्माण कराने को मजबूर हो गया। इसी वार्ड के उत्तरी छोर पर स्थित लाभार्थियों से तो दो दो हजार रुपये इसलिए वसूले गए कि उनके शौचालय बड़े और गहरे बनाये जाएंगे। ,

एक और लाभार्थी ने शौचालय को मजबूती प्रदान करने के लिए अपने पास से हजार ईंटें लगाए । स्वछ भारत मिशन के अंतर्गत बन रहे शौचालय की इतनी दयनीय स्थित है कि अभी तक चल रहे तमाम सरकारी मिशनों में इसका बुरा हाल है ।  सूत्रों ने बताया कि लाभार्थी इतने लाचार हैं कि वह कहां जाए किस्से कहें  सूत्र बताते हैं कि कस्बे के तेज तर्रार माने जाने वाले सभासद भी उनकी मदद नहीं कर रहे शायद सभसदों की चुप्पी देखकर लाभार्थी भी दुखी हैं ।

]

(380)

Leave a Reply