कानून की हालत द्रोपदी से बदतर बना रहे खनन माफिया, प्रशासन की नाक के नीचे हो रहा अवैध खनन

December 6, 2017 4:49 pm0 commentsViews: 228

अजीत सिंह

 

सिद्धार्थनगर।  पूरे जिले में रोक के बावजूद बालू और मिट्टी का खनन धड़ल्ले से हो रहा है। पुलिस और प्रशासन सब कुछ जानते हुए भी मौन है। दरअसल खनन माफिया कानून व्यवस्था का अपमान वैसे ही कर रहे हैं, जैसे कभी हस्तिनापुर में द्रौपदी का हुआ था। हस्तितनापुर में  बड़े बड़े शुरवीर थे, मगर द्रौपदी के अपमान पर सब खामोश थे। यहां जिले में भी सभी अवैध खनन के बारे में वाकिफ हैं, मगर कानून व्यवस्था को नंगा किया जा रहा है।

कल सदर ब्लाक और सदर थाना क्षेत्र के ग्राम रेहरा में दिनभर खनन मफिया की ओर से मिट्टी का अवैध खनन चलता रहा। ग्रामीणों ने पुलिस और तहसील प्रशासन को सूचना भी दी, मगर उनके कानों पर जूं नहीं रेंगी। इसी तरह मोहाना क्षेत्र में कूड़ा नदी पर बालू खनन भी दिन दहाड़े होता रहा और पुलिस मूक दर्शक बनी रही। प्रशासन को इसकी भी सूचना दी गई थी।

सू़त्र बताते हैं कि वर्तमान में सदर तहसील के ग्राम भीमापार, रेहरा, बलूरी, कोड़रा,चाई टोला सहित कई गांवो अवैध मिटटी खनन जारी है। उसके अलावा  कूड़ा नदी केमोहाना,  रोहूडीला सोहांस आदि क्षेत्रों में जम के बालू खनन हा रहा है। इसही नहीं जिले की सभी नदियों पर बालू खनन कर मफिया और प्रशासन के जिम्मेदार लोग मालामाल हो रहे हैं।

इस मुद्दे पर प्रशासन का कहना है कि वह निगरानी करता है और पकड़े जाने पर वाहनों को सहज भी करता है। मगर जानकारों का कहना है कि प्रशासन कभी कभी कुछ वाहनों को पकड कर खानापूरी करता है। इनमें भी अधिकांश वे वाहन होते हैं जो प्रशासन को महीना न देकर चोरी से खनन करते हैं या जरूरतमंद होते हैं। सच

(213)

Leave a Reply