जमीनी विवाद में जमकर मारपीट, एक की मौत, दबंगों ने महिलाओं को भी नहीं छोड़ा

March 30, 2018 2:30 pm0 commentsViews: 517

प्रदीप कुमार गुप्ता*

मसकनवा, गोंडा। दूसरे गांव से मजदूरी कर के घर लौट रहे एक पचास बर्षीय व्यक्ति को दो दिन पहले दरवाजा लगाने के विवाद को लेकर पहले से ही घात लगाकर रास्ते में  पटटीदारों ने लाठी डंडों से मार पीट कर लहूलुहान कर दिया।घायल को 100 नंबर की पुलिस द्वारा उपचार के लिये सीएचसी छपिया ले जाया गया।जहां गत दिवस उपचार के दौरान उसकी मौत हो गयी।

बताते हैं कि घर में दरवाजाा लगाने को लेकर मंगलवार की शाम  गांव के दलित बब्बूलाल और उसके पटटीदारों विजय में कहासुनी हुयी थी।ग्रामीणों का कहना है कि उस समय केवल कहासुनी होकर मामला शांत हो गया था।मृतक की पत्नी महीनका देवी व उसके तीसरे नंबर के पुत्र रामनिवास का कहना है कि बुधवार की रात बब्बूलाल उम्र 50 वर्ष पास के सुमेरपुर गांव से मजदूरी करके घर आ रहे थे।परिजनों के अनुसार बाबूलाल घर से मात्र आधा किलोमीटर की दूरी पर मुर्गा पालन फार्म  के पास पहुंचा तो पहले से ही घात लगाकर बैठे उसके विरोधियों ने उस पर लाठी डंडों से मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

मृतक की पत्नी का कहना है कि मारपीट की आवाज सुनकर मौके पर स्थानीय लोगों ने पहुंचकर बचाने के प्रयास किया तथा परिजनो को भी सूचित किया।सूचना मिलने पर बाबूलाल की बेटी सत्रह वर्षीय मीरा देवी तथा उसकी मां महिनका देवी को भी मारा पीटा।घटना की सूचना पीड़ितों ने 100 नंबर की पुलिस को दी।100 पुलिस ने घायल को आनन फानन उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र छपिया ले जाया गया।जहां उपचार के दौरान अस्पताल में ही बाबूलाल की मौत हो गयी।

एसओ छपिया शैलेश सिंह ने बताया की मृतक की पत्नी महिनिका देवी ने गांव के ही विजय गोपाल, जय गोपाल, प्रेम चन्द्र, मुन्नी लाल और गुडिया के विरूद्ध नामजद तहरीर दी है।उन्होंने बताया कि मृतक की पत्नी की तहरीर पर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। घटना के आरोपियों की धर पकड़ की जा रही है।

(487)

Leave a Reply