घर-घर कोरोना की तलाश में आज से निकल पड़ी आशा वर्कर की तीन हजार टीमें

May 6, 2021 3:05 pm0 commentsViews: 479
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। कोरोना पाजिब की तलाशा में जिले की सभी आयायें आज अपने अपने इलाके में निकल पड़ी हैं। वे घर घर जा कर पता कर रहीं है किस घर में कोरोना पाजिटिव है किस घर में नहीं है। वे घर घर में लोगों से कारोना के सेकेंड वेब के लिए सतर्क भी कर रही हैं। इसके लिए कुल 2381 टीमें बनाई गई हैं। यह केवल प्रथमिक लक्ष्णों के अधार पर सूची बनाएंगी और स्वास्थ्य विभाग को रिपोर्ट देंगी।
शोहरतगढ़ तहसील के गनेशपुर की आशा कार्यकर्ता संगीता देवी के अनुसार भ्रमण के दौरान वे लोगों को कोविड के लक्षण जुकाम, खांसी की समस्या, सूखी खांसी, सूंघने व टेस्ट में दिक्कत व चक्कते पड़ने वालों की सूची तैयार कर रही हैं। ऐसा ही करने का निर्देश है। संगीता देवी के अनुसार इसी के साथ साथ लोगों को ऐसे लक्षण दिखने पर तत्काल कोविड जांच कराने के लिए भी कहा जा रहा है। इसके अलावा घरों से कम से कम निकलने का अनुरोध कर रही हैं।
इसी क्रम में डीसीपीएम मानबहादुर ने बताया कि कोरोना का सेकेंड वेब अपेक्षाकृत खतरनाक है। इससे सतर्कता से ही निपटा जा सकता है। आशा कार्यकर्ताओं के साथ दो-दो की टीम गृह भ्रमण कर लाइन लिस्टिंग कर रही हैं। सूची तैयार हो जाने के बाद टीम भी लोगों के घरों का भ्रमण कर चेन तोड़ने के लिए सैंपलिंग करेगी।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. सौरभ चतुर्वेदी ने बताया कि पांच दिनों तक चलने वाला अभियान पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर शुरू किया गया है। जिन गांव में आशा नहीं है वहां बगल के गांव की आशा, आंगबनाड़ी, अध्यापक, निगरानी समिति के सदस्य को टीम में रखकर चेन तोड़ने का कार्य हो रहा है। गृह भ्रमण के दौरान प्रति टीम को छह मेडिसिन किट उपलब्ध कराई गई है। भ्रमण के दौरान अगर संभावित या कोविड लक्षण युक्त मरीज दिखें तो उन्हें किट देकर दवाओं के सेवन के बारे में बताया जाएगा।

(367)

Leave a Reply


error: Content is protected !!