जनादेश : कपिलवस्तु सीट से सपा उम्मीदवार के खिलाफ विपक्ष के पास कोई तगड़ा उम्मीदवार नहीं

January 5, 2017 11:43 am0 commentsViews: 918
Share news

नजीर मलिक

vijjay1

सिद्धार्थनगर। जिले की सदर यानी कपिलवस्तु विधानसभा सीट  में सपा के अन्दरूनी कलह के बावजूद सपा उम्मीदवार और सदर विधायक विजय पासवान फिलहाल चुनाव प्रचार में बहुत आगे दिख रहे हैं, और दलों ने जहां उम्मीदवार तक घोषित नहीं किया है, वहीं विधायक पासवान अब तक अपने क्षेत्र का दो बार डोर–टू–डोर सम्पर्क करके चुनावी मुहिम में नंबर 1 बन चुके हैं।

सन् 2012 में पहली बार सपा उम्मीदवार बने विधायक विजय पासवान ने भाजपा के दिग्गज नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीराम चौहान को 37 हजार मतों से पराजित किया था। तब विजय पासवान भाजपा के श्रीराम चौहान के मुकाबले राजनीति में शून्य थे। वह पूर्वांचल में सर्वाधिक मात्रा से जीतने वाले सपा प्रत्याशी बने थे।

चुनाव जीतने के बाद 3 साल तक सपा विधायक विजय पासवान काम तो करते थे, लेकिन राजनीतिक अनुभव कमी के कारण उसका श्रेय नहीं ले पाते थे। बहरहाल परिपक्व होने के बाद उन्होंने नीतियों के प्रचार प्रसार का महत्व समझा, तब उनके कारनामे लोगों के सामने आने शुरू हुये।

पिछले पांच सालो में उन्होंने बहुत काम किया। बकौल विजय पासवान उन्होंने हिमालयी क्षेत्र में नदियों पर आधा दर्जन बड़े पुलों का निर्माण कराया। उन्होंने एक हजार गम्भीर रोगियों को मुख्यमंत्री से मिल कर 50 हजार से लेकर 5 लाख तक की मदद दवा के लिए दिलायी। ये लोग आज भी उनको दुवाएं दे रहे हैं।

विजय पासवान वह विधायक है जो शादी–विवाह, मौत, दुर्घटना से लेकर जन सामान्य के हर खुशी और गम में शामिल होते हैं, जबकि विपक्षी दल के लोग अभी टिकट की लड़ाई में ही उलझे हैं, उनके पास जनता में जाने का समय नहीं है। ऐसी हालत में वो कैसे कामयाब होंगे, यह बताना कठिन है।

फिलहाल पिछले चुनाव में सपा के प्रतिद्धंदी रहे श्रीराम चौहान से बड़ा नेता सदर सीट पर भाजपा के पास नहीं है। लोग कहते हैं कि जब केंन्द्रीय मंत्री व बेहद गंभीर राजनीतिज्ञ (श्रीराम चौहान) उनसे 37 हजार वोटों से हार गया, तो भाजपा के पास उससे बड़ा विकल्प और क्या होगा, कांग्रेस और बसपा तो यहां जंग नहीं कर सकते, क्योंकि 1989 के बाद का इतिहास यही बताता है कि कांग्रेस और बसपा के संघर्ष का इतिहास यहां प्रथम दो में कभी नहीं रहा, और इस चुनाव में भी यहीं इतिहास दोहराया जायेगा।

 

(10)

Leave a Reply


error: Content is protected !!