गोरखपुर के मोहद्दीपुर गोली कांड का मुख्य अभियुक्त शुभम सिंह ‘सिंघाड़ा’ मुठभेड़ के दौरान महाराजगंज में पकड़ा गया

September 28, 2020 2:39 pm0 commentsViews: 8

— प्रापर्टी डीलर जितेन्द्र यादव को गोली मरने के मामले में वांछित था शुभम सिंघाड़ा। वह नेपाल भागने के प्रयास में था

शिव श्रीवास्तव

महराजगंज। गोरखपुर के मोहद्दीपुर में 21 सितंबर को दो गुटों में फायरिंग के बाद प्रॉपर्टी डीलर जितेंद्र यादव को गोली मारने के मामले में मुख्य आरोपी शुभम सिंह सिंघाड़ा को क्राइम ब्रांच महाराजगंज की टीम ने शनिवार की रात गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ के उपरांत जेल भेज दिया गया है।पिछले एक सप्ताह से पुलिस उसकी तलाश में थी और वह भागता फिर रहा था।

खबर के मुताबिक महराजगंज की क्राइम ब्रांच की टीम शुभम सिंह सिंघाड़ा की टोह में लगी थी थी। क्योंकि उसे पता था कि गोरखपुर पुलिस के निरंतर दबाव के चलते शुभम जिला छोड़ चुका है तथा वह नेपाल भागने की ताक में होगा।  क्राइम ब्रांच की टीम यह समझती थी कि नेपाल जाने के लिए शुभम के लिए महाराजगंज होकर सीमा पार करना सर्वधिक आसान है। इसीलिए वह जांल बिछा रही थी।

कैसे हुई शुभम सिंघाड़ा की गिरफ्तारी

बताते हैं कि आखिर वह दिन आ ही गया। शनिवार की रात वह घुघली होकर नेपाल जाने का प्रयास कर रहा था कि  उसकी   घुघली थाना क्षेत्र में घोघिला पुल पर क्राइम ब्रांच व शुभम के बीच मुठभेड़ हो गई। शुभम सिंघाड़ा ने फायरिंग करते हुए भागने का प्रयास किया लेकिन पुलिस टीम उसे दबोवने में कामयाब हो गई। सिंघाड़ा के पास से एक तमंचा और बाइक मिली है। उस पर गोरखपुर पुलिस ने 25 हज़ार का इनाम भी घोषित कर रखा था। बता दें कि गत २१ सितम्बर को गोरखपुर के उपनगर मोहद्दीपुर क्षेत्र के विशुनपुरवा मेंदिनदहाड़े गोलीबारी की गई थी, जिसमें प्रापर्टी डीलर जितेन्द्र यादव की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। इसी के बाद शुभम सिंघाड़ा के पीछे पुलिस हाथ धोकर पीछे पढ़ गई थी। शुभम एक शातिर अपराधी है। महाराजगंज पुलिस की यह सफलता निश्चित ही सराहनीय है।

शुभम सिंह सिंघाड़ा ने सरूंडर की अर्जी भी दे रखी थी

वैसे यहां यह भी उल्लेखनीय हैकि नेपाल न पहुंच पाने की दशा में शुभम सिंघाड़ा ने सरेन्डर करने केलिए कोर्ट को अर्जी भी दे रखी थी। क्योंकि शरणदाताओं पर पुलिस की कार्रवाई के संदेश और पुलिस के बढ़ते दबाव को देखते हुए शुभम सिंह सिंघाड़ा के पास जिले में कोई ठिकाना नहीं बचा था। पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने बताया कि आरोपित नेपाल जाने की फिराक में था इसी बीच ढोढ़िला पुल पर क्राइम ब्रांच व घुघली पुलिस की टीम ने जब रोकने का प्रयास किया तो आरोपी फायरिंग कर भागना चाहा लेकिन वह हड़बड़ा कर गिर गया  और पलिस टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया ।

Leave a Reply


error: Content is protected !!