पत्रकार की पिटाई को अखिलेश ने गंभीरता से लिया, जिले के सपाइयों ने दिया राज्यपाल को ज्ञापन

May 19, 2021 12:44 pm0 commentsViews: 410
Share news

नजीर मलिक

ज्ञापन से पूर्व बैठक के अंत में आजम खान सहित सभी कोरोना पीड़ितों के लिए प्रार्थना करते सपाई

सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज के पत्रकार को मारे पीटे जाने की घटना को समाजवादी पार्टी के केन्द्रीय नेतृत्व ने गंभीरता से लिया है। इसी क्रम में अखिलेश यादव के निर्देश पर सपा जिला इकाई की बैठक में घटना की निंदा कर प्रस्ताव पारित किया गया तथा इसे ज्ञापन का रुप देकर डीएम के माध्यम से राज्यपाल को भेजा गया। बैठक में मौलाना जौहर अली यूनिवर्सिटी के संस्थापक समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान सहित तमाम पीड़ितों के जल्द स्वस्थ व दीर्घायु होने की कामना भी की गई । इस घटना से समझा जा रहा है सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव इस घटना को राजनीतिक मुद्दा बनाने के चक्कर में हैं।

खबर के मुताबिक समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर एक आकस्मिक बैठक जिला अध्यक्ष लाल जी याद की अध्यक्षता तथा उत्तर प्रदेश विधानसभा के पूर्व स्पीकर माता प्रसाद पांडेय की उपस्थिति में संपन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी सिद्धार्थनगर के माध्यम से महामहिम राज्यपाल महोदय को जनपद में गिरती हुई कानून व्यवस्था आदि समस्याओं को लेकर ज्ञापन दिया गया l बैठक में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय ने प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था पर प्रकाश डाला तथा कोरोना की रोकथाम में असफलता पर सरकार की कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि इसका खामियाजा देश और प्रदेश की सरकारों को भुगतना प़ड़ेगा।
क्या लिखा गया ज्ञापन में?

ज्ञापन में कहा गया है कि डुमरियागंज के बेवा अस्पताल में कार्यक्रम के अवसर पर भारत समाचार चैनल के स्थानीय पत्रकार अमीन फारुकी द्वारा प्रश्न पूछे जाने को लेकर विधायक तथा एसडीएम उपस्थिति में उनके समर्थर्कों द्वारा पत्रकार के साथ मारपीट तथा बदसलूकी की गई। जिसकी कड़ी निंदा करते हुए दोषियों को उचित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करने तथा पत्रकारों के ऊपर फर्जी मुकदमों को वापस लेने की भी मांग की गई। ज्ञापन में आरोप लगाया गया कि भाजपा नेताओं के इशारे पर पुलिस द्वारा सपा कार्यकर्ताओं को फर्जी मुकदमे में फंसा रही है। इसके अलावा पूरे जनपद में ऑक्सीजन तथा दवाओं के अभाव के कारण कोरोना महामारी से हजारों लोगों की जान चली गई जिसका सरकार के पास कोई आंकड़ा नहीं है पूरे जनपद में तहसील तथा ब्लॉक स्तर पर करोना महामारी से निपटने के लिए दवाओं तथा ऑक्सीजन की उपलब्धता की मांग की गई है l

ज्ञापन बैठक में शमिल होने तथा ज्ञापन देने वालों में उपरोक्त के अलावा पार्टी महामंत्री कमरुज्जमा खान, पूर्व विधायक विजय पासवान, रामकुमार यादव उर्फ चिनकू यादव, अफसर रिजवी, जमील सिद्दीकी, अब्दुल कलाम सिद्दीकी, अनूप त्रिपाठी, मेहंदी रिजवी एडवोकेट, कालीचरण यादव, सैयद कुतुब, सोनू यादव आदि सपा नेता उपस्थित रहे
क्या अखिलेश इसे मुद्दा बनाने वाले है?

सपा सूत्रों का कहना है कि इस मामले का स्वयं अखिलेश यादव ने संज्ञान लिया है तथा उन्होंने अमीन फारूकी से बात करने के लिए उनका मोबाइल नम्बर भी स्थानीय लोगों से प्राप्त किया है। इसके अलावा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जिलाध्यक्ष लालजी यादव तथा डुमरियागंज के नेता चिनकू यादव से बात कर घटना की जानकारी ली है। इससे लगता है कि निकट भविष्य में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव संघर्ष के लिए मुद्दा तय करने वाले हैं। अमीन एक पत्रकार के साथ अल्पसंख्यक समाज के हैं। इससे अखिलेश यादव को निश्चित ही राजनीतिक लाभ मिलेगा।

(371)

Leave a Reply


error: Content is protected !!