कपिलवस्तु पोस्ट से जुडें

मेनस्ट्रीम मीडिया के लिए ग्रामीण पत्रकारिता कितनी अहम है? इसका जवाब पाने के लिए अगर किसी भी मीडिया समूह की नींव खोदी जाए तो नतीजे बेचैन कर देंगे। रीढ़ कही जाने वाली ग्रामीण पत्रकारिता कमोबेश दफ्न हो चुकी है। अख़बार के पन्नों और टीनी स्क्रीनों से गावों और कस्बों की ख़बरें लगभग गायब हैं। किसी भी अखबार या न्यूज़ चैनल के पास देश के किसी भी कोने में पूर्णकालिक ग्रामीण संवाददाता नहीं है जबकि देश की 75 फीसदी आबादी अभी भी गांवों में बसती है।

बदहाल ग्रामीण पत्रकारिता की ताज़ा स्थिति समझने के लिए वरिष्ठ पत्रकार पी. साईंनाथ का हालिया बयान काफी है, ‘हमारे देश में ग्रामीण रिपोर्टिंग की हालत बहुत खराब है। अखबारों के पास श्रमिकों, कमजोर तबकों, किसानों और हाशिए के समुदायों के मुद्दों को कवर करने वाला कोई रिपोर्टर नहीं होता। मीडिया देश की 75 फीसदी आबादी की चिंता नहीं करता। गरीबों के लिए मीडिया के दरवाजे पूरी तरह बंद हैं। उन्हें तभी खबरों में जगह मिलती है जब मुख्यधारा के मीडिया को उनके जीवन में कुछ सनसनीखेज दिखता है।’

कपिलवस्तु पोस्ट डॉट कॉम की भूमिका यहीं से शुरू होती है। ऑनलाइन माध्यम में शुरू की गई यह वेबसाइट उन ख़बरों के लिए मंच है जिन्हें न्यूज़ चैनलों पर जगह नहीं मिलती और जिन्हें प्रकाशित करने में अख़बार के संपादकों की दिलचस्पी शून्य है। फिलहाल कपिलवस्तु पोस्ट डॉट कॉम पर सिद्धार्थनगर ज़िले की सभी अहम ख़बरों को चुना और प्रकाशित किया जाना है।

 

 

पता- जमशेद कटरा, उसका रोड, सिद्धार्थनगर

मोबाइल- 09956033733

लैंडलाइन- 05544-222700

ईमेल- kapilvastupost@gmail.com

 

 

error: Content is protected !!