exclusive- अंजू एक दिन के लिए सिद्धार्थनगर की थानाध्यक्ष बनी, 14 साल की तान्या और वार्तिकी को सब इंस्पेक्टर का ओहदा

December 10, 2017 2:47 pm0 commentsViews: 893

नजीर मलिक

अंजू चौहान के साथ तान्या व वार्तिका को नियुक्ति पत्र देते हुए पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह

सिद्धार्थनगर। कम्युनिटी पुलिसिंग के तहत शहर के सरस्वती विद्या मंदिर बालिका इंटर कालेज की प्रधानाचार्य  अंजू चौहान को आज सिद्धार्थनगर थाने का इंचार्ज बना दिया गया। इसके साथ ही उन्की दो छात्राओं तान्या और वार्तिकी को सब इंस्पेकटर का ओहदा दिया गया। वह तीनों अगले 24 घंटे तक सिद्धार्थनगर थाने को अपने ढंग से चलायेंगी। पुलिस के इस अभिनव प्रयोग की सर्वत्र चर्चा हो रही है।

रविवार सुबह ११ बजे थाना परिसर का माहौल बड़ा रोमांचक था।  पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह ने अंजु चौहान को इंस्पेक्टर  और दोनों बालिकाओं तान्या और वार्तिकी को सबइंस्पेक्टर पद का  बाकायद नियुक्तिपत्र दिया। यह नियुक्ति थानाध्यक्ष डीके श्रीवास्तव के स्थनापन्न के रूप में हुई। इसके बाद एसपी ने नवागत थानाध्यक्ष को फूलों का गुलदस्ता देते हुए उन्हें कोतवाली इंचार्ज डीके श्रीवास्तव की कुर्सी पर बैठाया, जहां वह तीनों फरियादियों की शिकायतों का निस्तारण करती रहीं और जरूरी आदेश भी पारित करती रहीं।

थानाध्यक्ष के रूप में थाने में काम काज निपटाती अंजू चौहान के साथ तान्या एवं वार्तिकी

दोपहर में उनके नेतृत्व में जागरूकता रैली भी निकाली गई, जिसमें तमाम पुलिस वालों की भी शिरकत रही। उन्हें थाना इंचार्ज की पुलिस जीप और सरकारी  माबाइल भी प्रदान किया गया है। उन्हें वह सब अधिकार दिया गया है जो थानाध्यक्षों का होता है। आज पूरे दिन और रात वह समूचे थाना क्षेत्र की कानून व्यवस्था पर नजर रखेंगी और जरूरी कदम उठायेंगी।

दरअसल यह अभिनव प्रयोग पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह ने  पुलिस महानिदेशक के नारी सुरक्षा और सम्मान  कार्यक्रम के तहत किया है। उनका मानना है कि इससे महिला समाज में एक संदेश जायेगा, पुलिस और जनता के बीच विश्वास बढेगा और पुलिस की छवि भी बदलेगी, जन संवाद भी बढ़ेगा।

जगरूकता रैली निकालने की तैयारी करती एक दिन की थनाध्यक्ष अंजू चौहान

पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह ने बाद में पत्रकारों से कहा कि यातायात व नारी जागरूकता के तहत इस प्रकार के विभिन्न कार्यों से जनता का अत्मविश्वास बढ़ता है तथा उनमें और जनता के बीच अविश्वास की खाई पटती है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को काफी जागरुक करने की जरूरत है। उन्हें उम्मीद है कि इस प्रयोग का नारी समाज में सकारात्मक संदेश जायेगा।

इस अवसर पर  अपर पुलिस अधीक्षक अरविंद मिश्र,  सीओ डीके सिंह, नगरपालिका अध्यक्ष श्याम बिहारी जायसवाल, समाजसेवी राज कुमार सोनी सहित तमाम नागरिक, समाजसेवी, मीडियाकर्मी उपस्थित थे।

 

 

 

(784)

Leave a Reply