भारी वाहनों के बोझ से काँपता है पुल, लगातार दुर्घटना से या़त्रियों में दहशत, नींद में सो रहा विभाग

May 1, 2018 1:27 pm0 commentsViews: 604

ओजैर खान

टूटी रेलिंग और जीर्णशीर्ण सड़क वाला चरगंहवा पुल

बढ़नी, सिद्धार्थनगर। -राष्ट्रीय राजमार्ग 730 पर बढनी के बगल चरगहवा नदी के पुल का जोड,गड्ढों मे तबदील हो जाने से बडे लोडेड ट्कों व ,अन्य बडे वाहनो के पहियों के गैप मे गिरने से पूरा पुल कंपन कर हिल जा रहा है । जानकारों ने इसे प्रशासन की घोर लापरवाही मान बडे दुर्घटना की आशंका करार दिया है। ज्ञात रहे कि इस पुल से अब तक कई लोग गिर कर मौत के मुंह में जा चुके हैं, मगर सो रहे विभाग की नींद नहीं टूट रही है।

बढनी के बगल चरगहवा नदी का पुल के ऊपर जोड अब गड्ढों मे तबदील हो गया है उन गड्ढों मे वाहनो के गिरने से पूरा पुल हिल जा रहा है पुल की रेलिंग चार वर्षो से टूटी है। रेलिंग टूटने से बढनी के गल्ला व्यापारी संतराम का ट्क नदी मे गिर कर चकनाचूर, और डा्ईवर खलासी मरणासंन हो चुके हैं।  वही दुधवनिया के सायकिल सवार का टूटे रेलिंग से गिरकर दोनो जाँघ की हड्डी टूट चुकी है ।

जानकरों ने बताया इसी चरगहवा पुल के साथ का बना भाँभर नाले का पुल ऐसे ही लापरवाही से जर्जर हो आवागमन् बंद कर उसे कंडम घोषित कर गत वर्ष उसे फिर से नया छत ढाला गया था । जिसमे कई माह आवागमन् नीचे वाईपास से रहा।

बढनी के इंजीनियर अश्वनी श्रीवास्तव ने  इसी माह मे घाघरा पुल के एक टुकड़े को छ इन्च धँसने की घटना को ऐसे ही लापरवाही का नतीजा बताया । उन्होने पुल देखने के बाद कहा पुल पर पानी लगने से उसका लोहा सडकर पुल जहाँ कमजोर होता है वही गैपिंग मे बडे वाहनो के पहियों के गिरने से पुल के फाऊन्डेशन के घँसने का खतरा हो जाता है ।

 

 

वैसे तो उक्त पुल से होकर पचपेड़वा तुलसीपुर, बलरामपुर बहराइच लखनऊ जाने का मुख्य मार्ग है सभी नेता अधिकारी आते जाते है पर किसी ने ध्यान देने की जहमत नही की , पर उसी पुल से बढनी ब्लाक के निवासी रेलवे स्टेशन,ब्लाक,थाना,बाजार आने जाने वाले नदी पार क्षेत्र के प्रधान गण अनूप चौधरी, जमील अहमद, रिंकू चौधरी, अ०रशीद खान,जाकिर, मुज्मिल,आदि सहित ईसरार मडनी,नरेन्द्र सिंह,अशफाक, आदि पचासों लोगों ने शासन को पत्र भेजकर पुल के रिपेयरिंग की माँग की है ।

फोटो-पुल गैपिंग मे हुये गड्ढों व टूटे रेलिंग आदि का-

(568)

Leave a Reply