इस बार खेत नहीं, मकानों पर हुई आग की बरसात, सैकड़ों घर जले, कई झुलसे, लाखों का नुकसान

April 20, 2016 7:36 pm0 commentsViews: 468

नजीर मलिक

आग से जले मकान और झूलसते जंगल साथ में बिलखते लोग

आग से जले मकान और झुलसते जंगल, साथ में बिलखते लोग

सिद्धार्थनगर। मंगलवार को जिले में फिर आग की बरसात हुई। यह और बात है कि एक सप्ताह बाद आग ने इस बार खेतों पर नहीं मकानों पर कहर ढाया। जिसमें सैकड़ों मकान जल गये। दर्जन भर लोग झुल गये। करोड़ों का नुकसान हुआ। लोग चिल्लाते रहे और जिला प्रशासन तहसील दिवस में व्यस्त रहा।

आग की पहली घटना आज दोपहर 12 बजे के आसपास भवानीगंज के ग्राम धनखरपुर में घटी। वहां एक दर्जन एक दर्जन मकान जल गये। आग में सुन्नाराम के चार परिजन झुल गये, जिनमें एक महिला व तीन बच्चे शामिल हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि आग लगने के कई घंटे बाद दमकल मौके पर पहुंचा।
इसी समय डुमरियागंज के ग्राम सिरसिया में लगी आग से 45 घर तबाह हो गये। घटनाथल पर मौजूद सपा नेता सूर्य प्रकाश श्रीवास्तव ने बताया कि अजमल, अीस, महा नारायण आदि 45 लोगों के घर जले हैं। उनके मुतबिक यहां पचास लाख क नुकसान हुआ है। सूर्य प्रकाश ने प्रशासन से सभी के नुकसान की शत प्रतिशत मुआवजे की मांग की है।

हमारे शोहरतगढ़ रिपोर्टर के मुताबिक चिल्हिया थने के गोपालपुर-पलटादेवी के जंगल में आग लग गई, जिसमें हजारों पेड़ जल कर राख हो गये।  क्षेत्र के ग्राम हलौरा, गोल्हौरा गांव  में लगी आग से दर्जन भर से अधिक गांव जल गये।इसके अलावा सदर विधायक के ग्राम गदहमोरवा में भी दर्जनों मकान जलने की खबर है। इन घटनाओं में पचास लाख से अधिक नुकसान हुआ।

डुमरियांगेज में आग की खबर पाकर सदर विधायक मलिक कमाल यूसुफ धनखरपुर गांव पहुंचे और हालात का जायजा लिया। उन्होंने ग्रामीणों को पूरे नुकसान का मुआवजा दिलाने का भरोसा भी दिलाया । इसके अलावा जिले से बाहर गये नपा अध्यक्ष जमील सिद्दीकी ने घटना पर शोक व्यक्त करते हुए पीड़ितों को २४ घंटे में मदद  की बात कही है।

दूसरी तरफ आज अफसर तहसील दिवस में व्यस्त थे। किसी ने फोन नहीं उठााया। सिर्फ एसपी ने काल उठाया और दमकल भेजने की बात कही। जाहिर है कि प्रशासन की नजर में ऐसी घटनाओं का कोई महत्व नहीं है।

(6)

Leave a Reply