बसपा में बड़े धमाके के आसार, गोरखपुर बस्ती मंडल में बदले गये कई टिकट

April 16, 2016 9:30 pm1 commentViews: 3975

नजीर मलिक

bsp

सिद्धार्थनगर। बहुजन समाज पार्टी के गोरखपुर व बस्ती मंडल में बड़े उथल पुथल के आसार बन चुके हैं। सिद्धार्थनगर, संतकबीर नगर व गोरखपुर में कई टिकट फिर बदले गये हैं। इससे सियासी हलकों में हाथी की बड़ी किरकिरी हो रही है। इस खबर के बाद कई नेता पार्टी छोड़ने का मन बनाने में लग गये हैं।

हांलाकि बहुजन समाज पार्टी के द्धारा अभी उम्मीदवारों की अधिकुत सूची जारी नहीं हुई है। लेकिन बसपा के अंदर की जानकारी रखने वाले बखूबी समझते हैं कि पार्टी को “चंदा” देने वालों को ही टिकट मिलता है। कई बार अधिक  “चंदा” जमा करने पर पुराने उम्मीदवार का टिकट बदल दिया जाता है। जैसा कि अभी हाल में पूर्व सांसद हाजी मुहम्मद मुकीम के साथ भी हुआ है।

शोहरतगढ़ में चौथा बदलाव

सिद्धार्थनगर जिले की शोहरतगढ़ विधानसभा सीट पर पिछले एक महीने में चौथी बार बदलाव की खबर है। लखनउ के सूत्र बताते हैं कि इस बार वहां से अकील अहमद उर्फ मुन्नू की जगह एक सपा नेता का  “चंदा” जमा कराया गया है।
अकील के पहले बदरे आलम और उनसे पहले अमर सिंह चौधरी को टिकट दिया गया था। सूत्रों का कहना है कि सपा नेता का पैसा बीती रात जमा कराया जा चुका है, लेकिन अभी उनके नाम की घोषणा नहीं की जायेगी।

अकील अहमद बोले

इस बारे में कपिलवस्तु पोस्ट ने शोहरतगढ़ से बसपा उम्मीदवार अकील अहमद उर्फ मुन्नू से बात किया तो उन्होंने मायूसी भरे लहजे में बताया कि उन्हें भी ऐसी जानकारी मिली है। उन्होंने कहा कि पार्टी के फैसले के आगे क्या किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि देखते हें कि कहां क्या दिक्कत  हुई है।

संतकबीर नगर में भी टिकट बदला

खबर है कि संतकबीर नगर की मेहदावल सीट पर बसपा ने तीसरी बार टिकट बदल दिया है। इस सीट से बसपा ने पहले अपने पुराने नेता और पूर्व विधायक ताबिश को उम्मीदवार बनाया था। बाद में ताबिश को हटा कर उनके ही रिश्तेदार से पार्टी चंदा जमा करा लिया गया।

ताजा खबर के मुताबिक बसपा ने इन दोनों को हटा कर अब मेहदावल के एक भठ्ठा कारोबारी का चंदा जमा कराया है। उनका नाम अकरम बताया जा रहा है। इस खबर से संतकबीर नगर की राजनीति में एक बार फिर तपिश बढ़ गई है।

गोरखपुर में भी परिवर्तन

गोरखपुर में बसपा ने अपने एक पुराने योद्धा को झटका दिया है। खबर है कि चिल्लू पार वधानसभा सीट पर पार्टी ने अपने पुराने पुरोधा को हटा कर विनय शंकर त्रिपाठी पर दांव लगाने का मन बनाया है। हालांकि अभी इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

बताया जाता है कि गोरखपुर के तीन पूर्व मंत्री और बसपा नेता भाजपा के सम्पर्क में हैं। उन्होंने भाजपा के बडे नेता कलराज मिश्र से भी सम्पर्क बनाया है, लेकिन अभी उन्हें कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला है।

(0)

1 Comment

Leave a Reply