मल-मूत्र भरे रास्ते से वोटर कैसे जाएंगे बूथ पर? अन्य सुविधाओं का भी टोटा

April 3, 2019 1:01 pm0 commentsViews: 181

 

महफूज़ आलम /निजाम अंसारी

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। चिल्हिया थाना अंतर्गत ग्राम पल्टादेवी के प्रथमिक विद्यालय में बूथ संख्या 228 और 229 पर जाने के लिए कोई रास्ता नहीं है किसानों के खेतों की मेड़ ही एक मात्र सहारा है पलटा देवी गांव के लोगों को इसी राह से चलकर अपने बूथ पर वोट डालना पड़ता है।

बताते हैं कि खेतों की मेडों की हालत बहुत बुरी है। इन्हीं मेड़ों पर बैठक कर ग्मीण नित्य क्रिया करते हैं। इस नारकी रास्ते से गुजर कर बच्चे रोज स्कूल जामे हैं और चुनाव के दिनों में इसी रास्ते से वोटरों का भी आना जाना होता है।यह रास्ता स्वच्छ भारत के नारे का मजाक उड़ाता लग रहा है।

प्राथमिक विद्यालय पलट देवी में शौचालय और नल भी ख़राब हैं साथ ही साथ सफाई व्यवस्था के नाम पर कुछ भी नहीं। जब कि चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद से सभी बूथों के सम्बन्ध में सूचनाएं मांगी गयी थी की कौन से बूथ पर किस सुविधा की कमी है, इसके बावजूद विभाग द्वारा बूथ संख्या 228 ,29 पर अभी तक रास्ते, शौचालय व  पीने के पानी आदि की व्यवस्था नहीं की गयी है।‘

इस संबंध में उपजिलाधिकारी शोहरतगढ़ ने बताया कि उक्त बूथ संख्या पर सुविधाओं की कमी होना संज्ञान में है जल्द ही सही किया जायेगा। ज्ञात रहे कि वर्तमान में स्वच्छता मिशन भारत सरकार का सबसे बड़ा कार्यक्रम है, इसके बावजूद ग्रामीण इस गलीज रास्ते पर चलने को अभिशप्त हैं।

 

 

(169)

Leave a Reply