मुस्लिम लड़के को हिंदू छा़त्र. बना कर आरएसएस शिविर में ले जाने की जांच शुरु, लीपापाती की आशंका

October 23, 2015 7:14 am12 commentsViews: 2371

नजीर मलिक

गुलजार को दिया गया विजय कुमार के नाम का प्रमाणपत्र, अपने पिता व मजहर आजाद के साथ गुलजार और संघ के शिविर में गणवेश पहने गुलजार

गुलजार को दिया गया विजय कुमार के नाम का प्रमाणपत्र, अपने पिता व मजहर आजाद के साथ गुलजार और संघ के शिविर में गणवेश पहने गुलजार

सिद्धार्थनगर जिले के एक सरकारी स्कूल के छात्र गुलजार को विजय कुमार के नाम से संघ के शिविर में ले जाये जाने की जांच शुरु हो गई हैं। उस्का बाजार थाने की पुलिस ने संघ के शिविर में दिया गया गणवेश गुलजार से कब्जे में ले लिया है। उम्मीद है कि जल्द ही इस मामले में सही गलत का खुलासा हो जायेगा

बताया जाता है कि उस्का बजार पुलिस ने कल परती बाजार मुहल्ले से गुलजार और उसके पिता अयूब को थाने में बुलाया। पुलिस ने आरएसएस के शिविर में गुलजार को मिले यूनिफार्म, मसलन लाठी, काली टोपी आदि को अपने कब्जे में लिया।
बताया जाता है कि इस दौरान पुलिस ने जूनियर हाई स्कूल उसका बाजार के आरोपी अध्यापक श्रीराम मिश्र को भी थाने पर बुला रखा था।

पीड़ित परिवार के पिता अयूब ने बताया कि थाने पर उन्हें चुप रहने के लिए धमकाया गया। जबकि धटना में लिप्त अध्यापक श्रीराम मिश्र से कोई पूछताछ नहीं की गईं।

इस बारे में थानाध्यक्ष उस्का बाजार योगेन्द्र यादव का कहना है कि उनहोंने यूनिफार्म को सबूत के तौर पर कब्जे में लिया हैं। यही नहीं अध्यापक मिश्र से भी पूछताछ की गई है।

 प्रकरण को सामने लाने वाले सामाजिक कार्यकर्ता मजहर आजाद का कहना है कि अभियुकतों के सामने जिस प्रकार 15 साल के एक लड़के से पूछताछ की गई, अगर ऐसा आगे हुआ तो जांच सिर्फ लीपापोती बन कर रह जायेगी।

याद रहे कि गुलजार जूनियर हाई स्कूल में कक्षा आठ का छात्र था। आरोप है कि स्कूल के टीचर श्रीराम मिश्र ने गुलजार और तीन अन्य ल़डकों से टूअर के नाम पर 450 रुपये शुल्क लेकर, उन्हें सूर्या महाविदृयालय परसा शोहरतगढ़ में लगे आरएसएस के शिविर में भेज दिया था।

10 से 17 अक्टूबर तक चलने वाले इस शिविर में बकौल गुलजार उसे जो आईडी दी गई वह विजय कुमार के नाम की थी। शिविर में अनेक आपत्तिजनक बातें होती थीं। शिविर स्थल सूर्या महाविदृयाल क्षेत्र के भाजपा सांसद जगदम्बिका पाल का हैं।

गुलजार के मुताबिक शिविर में सम्प्रदाय विशेष के खिलाफ नफरत भरी जाती थी। तमाम आपत्तिजनक बातें होतीं थीं। शिविर से लौटने के बाद उसने सारी बातें परिजनों को बताईए तो उन्होंने डीएम एसपी को पत्र देकर मामले की जांच की बात की। जिस पर जांच शुरु हुई हैं।

इस मामले में कौन दोषी है, इसका खुलासा तो बाद में होगा। मगर सवाल है कि स्कूल से मात्र चार बच्चों को टुअर के नाम पे संघ के शिविर में क्यों भेजा गया। बच्चे के पिता अयूब के मुताबिक अध्यापक ने शुल्क लेते समय यह नहीं बताया कि उसे आरएसएस के शिविर में भेजा जा रहा हैं। उन्हें टूअर के नाम पर गुमराह किया गया।

इस बारे में बेसिक शिक्षा अधिकारी अजय सिंह का कहना है कि इसके लिए बच्चे के प्रार्थनापत्र पर स्कूल से इजाजत दी जा सकती है। अगर बीएसए की बात सही है तो उन बच्चों से प्रार्थनापत्र क्यों नहीं लिया गया?

बहरहाल मामले की जांच शुरु हो चुकी है, मगर कुछ लोग इस जांच को दबाने के प्रयास में हैं। यही वजह है कि बच्चे का बयान उन्हीं लोगों के सामने भयजनित माहौल में लिया गया, जिन पर आरोप लगे हैं।

इस बारे में सांसद जगदम्बिका पाल का कहना है कि मामला फर्जी है। यह संघ को बदनाम करने की साजिश है। दूसरी तरफ सीओ एम अकमल खां का कहना है कि जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई जरूर होगी।शिविर

12 Comments

  • Taufique shaikh

    Agar koi hum pr ungle rakkhe ga to hu us ko maaf nahe kre ge kyu ke hum hindustani hai majhab sab ka ek hai koi hindu to koi muslim hai aatank waade ka kio majhab nhe hota hai woh to sirf monyyyyy ke liye krte hai

  • Ispe kadi se kadi karwayi ki jaye

  • Mohammed ishaque

    To aap ki ye chahat dusare ko khawaab dikhane wale shaye hhi kissiko kuchdenge mager etna zarur kahunga ki zabani waade bahut kiye lekin sare ke sare 100% jhute ye to makkar o ka hi kamm ho saktaa hai tum jaise deshdarohi ki tarah dikh rahe ho jo india ke sawidhan se sabit hai ki r s s deshdarohi hai isliye unko ye khitab nrhru ji patel ke daurme hi mil gaya tha so pabhinav shayed tum bhi in gaddaro ke sath ho kyunki inhone nq kabhi hindustan ka bhala chaha nahi aage chahte hai jo log gandhi ke nahi huwe indira nehru ke nahi huwe azaadi ki ladayi me bhi r s s mukhbari karta raha azaadi ke sainiko ka jo ki fully muwlims the aur shukar adaa karo ki in muslims sainiko ne apna muluk angrezo se aazaad karaya thacto aaj tum chain ki saans le reho ho warna hariyana me jato ne kya kiya insaniyath ke khilaaf patelo ne kya kiyacgujraat me insaniyath ke khilaaf abhi bhi tum nahi samhale to aayinda ho sakta hai r svs ka nishaana tumhare khandan wale na hojaye kyunki tumhari nazro me daleet insaan nahi choti zaat ke log insaan nahi to tum khud sonchoo ki jab insaano ko jo insaan nahi samjhta woh to haiwaan aur shaitaan hi ho sakta hai bakoul tumhare tumne khud qubool kiya ki tum log shaitan ho hqm to tumko bhi insaan hi samjhte hai kash tumko wamjhdari hasil hoti to tum yebasten jahi karte abhinv samhal jao aur ham to desh ke haque me deshbhakat rahe hai aur rahenge aurjo hai so ye desh hamara haicesliye ki hamne ese aazad karaya tum ne hamqra shikar adaa karna chahiye khair har cheez ka sahih waqat aata hai،sabar karo Tumhari kaisi gov hqi jinake tallukat srilanka se kharab nepal se kharab bangladesh se kharab pakistaan se kharab fir bhi ye dekho ki bangladesh aur pakistan muslim countery hote huwe abhi bhi indiq se inmport karwata hai nqki europe yq dusare mulko se ye hai muslims countery ka padosiyo pe haque aur hambhi hazaro salo se hind ke wasi hai aur rahenge ba5a do tumhare kissi muslims ka jo tumhare padosi hqi kya kabhi usane tumhqra bura kiya ya tumhe sataya ya tumhare bachchoo ko qatal kiya nahina ya fir tum khud bolo kaisa hai tumhara muslim padosi jo kayi sau salo se reh rah hai lekin tumhara nuksan nahi pahonchaya to koun thacwoh kutte ki ya suwer ki awlad jisane hamare beech dushmani paida ki dil pe haath rakhke sooncho to koun hai woh kamina harami gadddar jo hamare darmiyaan aagh laga raha hai

  • I was just looking at your मुस्लिम लड़के को हिंदू छा़त्र. बना कर आरएसएस शिविर में ले जाने की जांच शुरु, लीपापाती की आशंका website and see that your website has the potential to become very popular. I just want to tell you, In case you didn’t already know… There is a website service which already has more than 16 million users, and the majority of the users are interested in topics like yours. By getting your site on this service you have a chance to get your site more visitors than you can imagine. It is free to sign up and you can find out more about it here: http://c.or.at/25v – Now, let me ask you… Do you need your website to be successful to maintain your way of life? Do you need targeted traffic who are interested in the services and products you offer? Are looking for exposure, to increase sales, and to quickly develop awareness for your site? If your answer is YES, you can achieve these things only if you get your website on the network I am talking about. This traffic service advertises you to thousands, while also giving you a chance to test the service before paying anything. All the popular sites are using this service to boost their traffic and ad revenue! Why aren’t you? And what is better than traffic? It’s recurring traffic! That’s how running a successful site works… Here’s to your success! Read more here: https://lil.ink/4q

Leave a Reply