मधवापुर रोड को सड़क कहेंगे तो खतरनाक रेगिस्तान किसे कहेंगे साहेब

March 21, 2018 12:20 pm0 commentsViews: 894

अमित श्रीवास्तव

मधवापुर रोड पर फंसा वहन और धक्का देकर निकालते राहगीर

मिश्रौलिया, सिद्धार्थनगर। प्रदेश की वर्तमान सरकार भले ही सड़कों को गढ्ढा मुक्त करने के लिए करोड़ों खर्च कर रही हो, लेकिन जिले के इटवा तहसील के मधवापुर-शोहतगढ़ सड़क की स्थिति को देखकर तो यही लगता है कि ये पैसा सिर्फ कागजो में ही खर्च किया जा रहा है। देखें फोटो, और बतायें कि फोटो वाली जगह किसी भी खतरनाक रेगिस्तान की तरह है या नहीं। क्या इसे सड़क का जा सकता है। हालांकि इसे सरकारी अभिलेखों में पिच रोड का दर्जा मिला हुआ है।

बताते चलें मधवापुर से शोहरतगढ़ के लिए बनी सड़क पर होरिलपुर पुल से मधवापुर तक सड़क पर बड़े बड़े गड्ढे है और इन गढ्ढों में रेत की मानिंद  धूल इस कदर जमा है कि सड़क देख कर लगता ही नहीं कि यह कभी पिच रोड रही होगी।  इस मार्ग से यात्रा करने वाले वाहन घण्टों सड़क की रेत नुमा धूल में फंस जाते है।जिससे आवागमन में लोगो को काफी परेशानियो का सामना करना पड़ रहा है।

ग्राम प्रधान मधवापुर अलीम का कहना है कि इस मार्ग से सैकड़ो गांवों के लोग जिला मुख्यालय जाते है।लेकिन वर्तमान में सड़क की हालात बदतर है जिससे काफी परेशानी उठानी पड़ रही है।ग्राम प्रधान ने कहा कि अगर जिम्मेदार विभाग ने एक सप्ताह में सड़क को ठीक नहीं किया तो इस सड़क से यात्रा करने वाले लोग धरने पर बैठने को मजबूर होंगे ।

इस सड़क से प्रतिदिन यात्रा करने वाले अब्दुल समद का कहना है कि सड़क निमार्ण में मानकों की अनदेखी का नतीजा है कि जो सड़क लोगों की सुविधा के लिए बनायीं गयी थी,  आज वही हम लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गयी है।विश्वनाथ यादव का कहना कि कई बार सम्बंधित विभाग सहित जनप्रतिनिधियों से सड़क को ठीक कराने की माँग की गयी, लेकिन किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। सुरेश यादव, इनमुल्लाह, रामहित, मंगेश, इरशाद, लतीफ आदि लोगो ने जल्द से जल्द सड़क को ठीक कराने की माँग की है।

(780)

Leave a Reply