सड़क मरम्मत में दस करोड़ के घपले पर बरसे सांसद पाल, सरकार से जांच की मांग

October 3, 2018 5:43 pm1 commentViews: 626

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। नेशनल हाइवे 233 के निमार्ण में ककरहवा-सिद्धार्थनगर-बांसी के बीच मरम्मत के नाम पर खर्च हुए दस करोड़ को बड़ा घपला बताते हुए क्षेत्रीय सांसद जगदत्बिका पाल ने नितिन गडकरी से मिल कर पूरे मामले की हाई लेबिल कमेंटी से जांच की मांग किया हैं। केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने उन्हें जांच क भरोसा दिया हैं।

आज यहां सर्किट हाउस में आयेजित प्रेस वार्ता में केंद्रीय मंत्री ने अपनी ही सरकार में तान माह पूर्व हुए मरम्मत के काम को घपला बताया और कहा कि इस निर्माणाधीन राष्ट्रीय राजमार्ग को बरसात में गड्डा मुक्त करने के लिए जून में 10 करोड़ रुपये खर्च कर दिये गये। मगर मरम्मत कहां हुई यह दिखाई नहीं देता।

ठेकेदार कम्पनी बताये कि मरम्मत कहां हुई है

सांसद पाल ने कहा कि बांसी से ककरहवा वाया सिद्धार्थनगर में आज भी बेशुमार गड्ढे हैं। मरम्मत कहा हुई यह दिखता ही नहीं है। सीधी सी बात है कि ठेकेदार और जिम्मेदार प्रशासन ने धन का बंदरबांट कर लिया। जिससे जनता को कोई फायदा नहीं हुआ और भाजपा सरकार की छवि पर बट्टा लगा। ठेकेदार और कम्पनी को बताना चाहिए कि तीन माह पहले हुआ मुरम्मत का काम किस जगह हुआ है? क्या वह दक भी जगह मरम्मत का काम दिखा सकती है?

हाई लेबिल कमेटी करेगी जांच

उन्होंने बताया कि इस प्रकरण को लेकर उन्होंने सम्बधित मंत्री नितिन गडकरी से मामले की शिकायत कर हाई लेबिल कमेटी से जांच की मांग की है। गडकरी जी पे जांच का भरोसा भी दिया है। उन्होंने दावा किया कि इसकी जांच हाई लेबिल कमेटी से जल्द ही शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जनता के साथ इतना बड़ा विश्वास सहन नही किया जा सकता है।

सड़क पर जोक/चुटकुले बन रहे

बता दें कि इस हाइबे को लेकर सरकार की कम सांसद पाल की ज्यादा किरकिरी हो रही है, क्योंकि वहीं पिछले दस साल से सांसद हैं। इसके बावजूद भी सड़क की इतनी दुदर्शा हुई। हालत यह है कि पिछले पांच साल में इस सडक पर पांचसाल में छोटी बड़ी कम से कम तीन सौ दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। अब तो इस सड़क पर लतीफ भी बनने लगे हैं।

 

 

 

(567)

Leave a Reply