जिंदा को मुर्दा, मर्द को औरत बना सकते हैं सरकारी कारिंदे

September 10, 2015 1:51 PM0 commentsViews: 835
Share news

हमीद खान

002(1)

सरकारी बाबू भी गजब की वस्तु होता है। लोगों को जीते जी मार डालना, किसी मर्द को औरत में तब्दील देना और किसी महिला के नाम के आगे तवायफ जैसे घिनावने शब्द डाल देना, उसके दायें बायें हाथ का खेल होता है। ऐसा ही एक ताजा मामला इटवा ब्लाक का है, जहां पूर्ति विभाग के बाबू ने बीपीएल कार्ड बनाते समय गजब का लेखन कर दिया है।

सिद्धार्थनगर के इटवा ब्लाक की बेवा फूला देवी के बीपीएल राशन कार्ड में उसके गांव सिसवा बुजुर्ग की जगह पर ग्राम कडजहवा दर्ज कर दिया गया है। विभाग के लिपिक ने केवल इतना ही नहीं किया। उसके बेटे जंगबहादुर का नाम अंगबहादुर लिखा और लिंग के खाने में उसे महिला दर्ज करके मर्द से औरत बना दिया।

लिपिकों की शरारत की यह अकेली घटना नहीं है। पैसा नहीं मिलने पर वह कुछ भी कर सकते है। पिछले दिनों आधार कार्ड बनाने वाली टीम ने एक महिला के नाम में वैश्या शब्द जोड़ दिया। उसके पति के नाम की जगह एक अभद्र गाली लिख दी। महिला ने जिलाधिकारी को आधार कार्ड पेश कर शिकायत भी दर्ज की मगर कोई नतीजा नहीं निकला।

इससे पहले यह बाबू लोग कई जिंदों को भी मुर्दा दर्ज कर चुके हैं। इसके बाद उन्हें अपने जीवित होने का प्रमाण पत्र पेश करना पड़ा। इस बार फूला देवी ने भी जिलाधिकारी से शिकायत की है, मगर नतीजा नहीं निकला।

जहां तक विभाग का सवाल है वह भी इस मामले में गंभीर नही है। पूर्ति निरीक्षक अमरजीत का कहना है कि कोई शिकायत लिख कर दे तो जांच कर लेंगे। गलती विभाग कि फिर भी अफसर की यह बेरुखी? इसी को कहते हैं संवेदनहीनता।

Leave a Reply