जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा देती हैं पुस्तकें- श्रीधर

September 5, 2015 4:47 pm0 commentsViews: 118
Share news

संजीव श्रीवास्तव

IMG-20150905-WA0024
पुस्तकें जीवंत देव प्रतिमाएं है। यह सभी को सतत रास्ता दिखाती हैं तथा जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा देती हैं। यह बातें गौतम बुद्ध जागृति समिति के सचिव श्रीधर पांडेय ने शनिवार को कहीं। वह सिद्धार्थनगर जनपद मुख्यालय के हनुमान मंदिर के पास 7 दिवसीय पुस्तक प्रदर्शनी के उदघाटन के बाद गोष्ठी को संबोधित कर रहे थे।
पांडेय ने कहा कि प्रदर्शनी का उददेश्य आम लोगों में किताब पढ़ने की अभिरुचि पैदा करना है। सिद्धार्थनगर की पहचान गौतम बुद्ध के जन्म स्थली के रुप में है। बुद्ध ने समूचे विश्व को शांति, सत्य एवं अहिंसा का संदेश दिया। पुस्तक प्रदर्शनी में भगवान बुद्ध से जुड़े सहित्य का विशेष समावेश है।
इससे लोगों को यहां की एतिहासिक धरोहरों की जानकारी मिलेगी। डा मृत्युजेयश्वर मिश्रा ने कहा कि आज पर्यावरण असंतुलन, रोग एवं अशांति का वातावरण हो गया है। इनसे निबटने के लिए यह पुस्तक प्रदर्शनी कारगर साबित होगी।
इस अवसर पर वीरेन्द्र कुमार, मोहर नाथ पांडेय, राकेश ़ऋषभ आदि की पुस्तकें लगायी गयी हैं। उदघाटन अवसर पर बृजेश मणि त्रिपाठी, रामायण मिश्रा, इनायत अली, अभिनाश राव, सूरज शुक्ला, धर्मेन्द्र कुमार पांडेय, राज नारायण पांडेय, अवनीश, आलोक, शौर्यधर, कविता, अर्चना, वर्षा, शिवांगी, सृजना आदि मौजूद रही।

(2)

Tags:

Leave a Reply


error: Content is protected !!