नौकरी की तलाश , शुरूआत कहाँ से की जाए?

August 2, 2015 8:07 pm1 commentViews: 498
Share news

आपके करियर में ऐसा मोड़ भी आता है जब आप निर्णय नहीं ले पाते कि क्या सही है और क्या गलत? अजय अपनी पढ़ाई पूरी कर नौकरी की तलाश में भटक रहा था। उसे समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर शुरूआत कहाँ से की जाए? अगर आप भी अजय जैसी मनोदशा से गुजर रहे हैं तो खुद को इन सवालों के आधार पर परखें-क्या आपके नौकरी ढूँढने का तरीका बिल्कुल सही है?

– इसका सबसे आसान उपाय है कि आप नौकरी ढूँढने के सामान्य तरीकों पर अमल करें। फिर यह देखें कि आपका तरीका कहाँ तक आपको सफलता दिला रहा है। आप इंटरनेट, क्लासिफाइड, आदि का साहरा ले सकते हैं। यह तरीका काफी आसान होता है, जिससे आप अपने लक्ष्य भी आसानी से पहचान पाते हैं और इस बहाने आप अपना आकलन बखूबी कर पाते हैं। ऐसी कोई कम्पनी जिसमें आप काम करना चाहते हैं, लेकिन वह कम्पनी नौकरी के संबंध में कोई जानकरी उपलब्ध नहीं कराती तो आप अपने लक्ष्य तक कैसे पहुँचेंगे?

इसका सबसे आसान तरीका है कि आप उस कम्पनी में किसी ऐसे व्यक्ति से पहचान बनाने कोशिश करें जो आपको कम्पनी के किसी जिम्मेदार व्यक्ति से मिला सके। यह जरूरी नहीं वह व्यक्ति उसी विभाग में काम करता हो, जिसमें काम करने के आप इच्छुक हैं। वह केवल आपका माध्यम बनेगा। जो आपको कम्पनी में सही व्यक्ति से आपकी पहचान कराएगा। व्यक्ति का नाम मिलने के बाद आप उसे एक आवेदन लिखकर भेजें। अगर उसपर विचार किया जाता है तो उनसे फोन पर संपर्क करने का प्रयास करें। फोन पर नौकरी के संबंध में बात न करें। यह कहकर उनसे समय लें कि आप इस क्षेत्र में उनका मार्गदर्शन चाहते हैं।

क्या आपका रिज्यूमे और बेहतर हो सकता है?
– जब आप आश्वस्त हो जाएँ कि आपका रिज्यूमे साफ-सुथरा और प्रोफेशनल बन गया है, तो अब यह प्रयास करें कि वह दूसरों से अलग और बेहतर दिखे। अलग तरह के फोन्ट और कलर का इस्तेमाल करें। वैसे सफेद रंग के इस्तेमाल से यह ज्यादा साफ-सुथरा दिखेगा। विषय-वस्तु पर पूरा ध्यान दें। दूसरे तरीके भी अपनाएँ, जैसे अपनी फोटो को स्कैन कर उस पर लगाएँ। लोगों का ध्यान आकर्षित करने का यह पुराना लेकिन कारगर तरीका है। कहने की जरूरत नहीं कि आपका फोटो आर्कषक हो। कई बार आपके रिज्यूमे भेजने के तरीके भी इंटरव्यू लेने वाले को प्रभावित कर सकते हैं। यह सारे उपाय आपको नौकरी पाने में मददगार होंगे। वैसे प्रतियोगिता की दौड़ काफी तेज हो गई है। अपना रिज्यूमे भेजने से पहले उसकी भाषाई शुद्धता की जाँच जरूर कर लें।

रिज्यूमे बनाने में सबसे ज्यादा गलतियाँ कौन-सी होती हैं?
– सबसे बड़ी गलती लोग यह करते हैं कि वे अपना रिज्यूमे ऐसे बनाते हैं, जैसे लांड्री में दिए कपड़ों की लिस्ट बनाई जाती है। आप एक-एक करके उस लिस्ट में अपने पूर्व के अनुभवों को जोड़ते जाते हैं। लेकिन आप इस बात का अंदाजा नहीं लगा सकते कि जो आपका रिज्यूमे पढ़ रहा है वो आपको अपनी कम्पनी के मापदण्डों और जरूरतों के अनुसार जाँचता है। उसके अनुसार ही आपकी क्षमताओं को परखा जाता है। यदि वह जो चाह रहा है वह आपके पास है और आपने अपने रिज्यूमे में दर्शा दिया है तो आपका काम हो गया समझिए। इसलिए एक ही रिज्यूमे बनाकर सभी जगह भेजने की भूल न करें। नौकरी और कंपनी की जरूरतों का अंदाजा लगाकर इसमें फेरबदल करके ही भेजें।

(9)

Tags:

1 Comment

  • There is one more way. To attend maximum number of Job Fairs, in India they call it Job Mela.
    In Job Fairs HR Managers ofany companies come. They see your Resume, talk to you and also look at your appearance and your way of answerin. If they are happy with all these they hire you on the spot.
    Firoz Khan
    Toronto, Canada.

Leave a Reply


error: Content is protected !!