सिलिंडर फटने से आधा दर्जन घर जले, बुजुर्ग महिला झुलसी, लाखों का नुकसान

April 15, 2017 4:40 pm0 commentsViews: 651
Share news

अजीत सिंह

नेट फोटो

नेट फोटो

 सिद्धार्थनगर। जिले के बांसी कोतवाली क्षेत्र के भड़ही उर्फ मिश्रौलिया गाँव के छह परिवारों के लिए शनिवार का दिन दुःखों का पहाड़ बनकर टूटा। गाँव निवासी भग्गू के घर में खाना बनाने वाला सिलेंडर फट गया। जिससे जग्गू समेंत आधा दर्जन लोगों के घर जल कर खाक हो गये और एक महिला बुरी तरह झूलस गई। अागसे लाखों की क्षति बताई जा रही है। घटना आज यानी शनिवार दस बजे दिन की है।

बताया जाता है कि जग्गू के घर में उसकी पत्नी 60 वर्षीय जोन्हा खाना बना रही थी। लगभग दस बजे अचानक सिलेन्डर में विस्फट हुआ और घर में आग लग गई। भयानक आग की लपटों में उसकी पत्नी जोन्हां घिर गई और वह बुरी तरह झूलस गई। उसे मुश्किल से निकाल गया। अस्पताल में उसकी हालत नाजुक है। वह साठ प्रतिशत से अधिक जल चुकी है।

  चश्मदीदों के अनुसार यह आग भग्गू के घर के आस पास के छःह छप्पर के रिहायशी घरों में भी पहुंच गई। जिससे इन घरों में रखा अनाज, चारपाई, बिस्तर सहित सब कुछ जलकर राख हो गया। इस आग से इन परिवारों का लाखों का नुकसान हुआ है। सिलेण्डर के टूकड़े दूर दूर तक फैल गए। लोगों की सूचना के बावजूद भी आग बुझाने वाली दमकल की गाड़ी आग बुझने के बाद पहुँची।

ग्रामीणों के एक दूसरे के सहयोग से आग पर काबू पाया गया। इस घटना में भग्गू की 60 वर्षीय पत्नी जोन्हा गम्भीर रूप से जल गयी है जिसका गंभीर स्थिति में जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। आग से हुए नुकासान और स्थिति का जायजा नायब तहसीलदार और बाँसी कोतवाली पुलिस ने लिया है।

इन बेघर हुए परिवारों तक अबतक कोई सहायता राशि नहीं पहुच सकी है। आग बुझाने वाली दमकल की गाड़ी के लेट से पहुंचना कोई नई बात नहीं है। जिले में कहीं भी आग लगने पर दमकल की गाड़ियां समय से नहीं पहुचती हैं। ये इस जिले की नियति बन चुकी है। वहीं आग से सबकुछ तबाह और बरबार हो चुके लोगों के सामने बहते आंसू के सिवाय कुछ नहीं हासिल होता है।

 

(5)

Leave a Reply


error: Content is protected !!