आशा और आंगड़बाड़ी कार्यकर्त्रियों को दिया गया प्रशिक्षण

December 23, 2015 2:32 PM0 commentsViews: 143
Share news

हमीद खान

फाइल फोटो

फाइल फोटो

इटवा, सिद्धार्थनगर। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर मंगलवार को “ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस” विषय पर आशा और आंगड़बाड़ी कार्यकत्रियों के दूसरे बैच को प्रशिक्षण दिया गया।

इस अवसर पर प्रशिक्षक के रूप में अधीक्षक डा वी के वैद्य ने उपस्थित आशा और आंगड़बाड़ी कार्यकत्रियों को 0-5 साल के बच्चों के टीकाकरण, गर्भवती महिलाओं, धात्री महिलाओं, किशोर- किशोरी, विवाहित महिला और पुरुष को परिवार नियोजन के विषय में विस्तार से जानकारी दी गई।

उन्होंने बताया कि पुरुष नसबन्दी और महिला नसबन्दी दोनों स्थायी विधियां हैं। इसके अतिरिक्त अस्थाई विधि में कंड़ोम, खाने की गोलियां माला ए, कापर टी, इमरजेंसी पिल्स के उपयोग की जांनकारी दी गयी।

उन्होंने आगे बताया कि गर्भवती महिलाएं प्रसव पूर्व की सावधानियों को अपना कर झटका आने की परेशानी से बच सकती हैं। इसके लिये चार जाचें की जाती हैं।

रक्तचाप, हिमोग्लोबिन, वजन, पेशाब की जांच करके इन सबका का संतुलन बनाये रखा जाना चाहिये। सरकार की मंशा है कि प्रशिक्षित आशा और आंगनबाड़ी कार्यकत्री अपने क्षेत्र में ठीक ढ़ंग से सेवाएं दें। उनके अन्दर दक्षता आये।
इस अवसर पर स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी प्रदीप वर्मा, बीसीपीएम प्रदीप जाटव के अतिरिक्त आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों में पूजा भारती, सरिता देवी, कुरेशा खातून, पूर्णिमा श्रीवास्तव, अशरत जहां तथा आशा रीना चतुर्वेदी, उर्मिला देवी, सुमन, पुष्पा देवी, कान्ती देवी, कलावती आदि उपथित रहीं।

Leave a Reply