सात दिन बाद मासूम आदर्श की मिली लाश, एसपी ने किया मौके का मुआयना, दिए जांच के आदेश

January 15, 2023 1:23 pm0 commentsViews: 258
Share news

नजीर मलिक

मौका मुआयना करते एसपी सिद्धार्थनगर

सिद्धार्थनगर। इटवा स्थानीय क्षेत्र के कपिया गांव से सात दिन पूर्व गायब हुए सात वर्षीय आदर्श  का शव शनिवार को गांव से एक किलोमीटर दूर कुएं में पाया है। आदर्श केपिता ने घटना को हत्या करारदिया है। इस घटना की खबर सुनकर एसपी अमित कुमार आनंद ने घटना स्थल पर पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी ली। वहीं पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस संदर्भ में टवा पुलिस ने सात जनवरी को इस मामले में गुमशुदगी को केस दर्ज किया था।

क्षेत्र के कपिया गांव निवासी दिनेश के मुताबिक उसका सात वर्षीय पुत्र आदर्श सात जनवरी को गायब हो गया था। आदर्श का रहस्यमय तरीके से गायब हो जाना गांव वालों के लिए आश्चर्य का कारण बना हुआ था। गांव वालों का कहना था कि आदर्श घर से क्रिकेट खेलने के लिए निकला था। लेकिन शाम तक नहीं लौटा। तभी से परिजन उसकी खोज में थे। उसी दिन परिवार के लोगों ने गुमशुदगी का केस दर्ज कराया था। इटवा पुलिस ने भी गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज कर आदर्श की खोज में लग गयी थी। सात दिनों बाद शुक्रवार को डॉग स्कॉड टीम ने भी मौके पर पहुंचकर आदर्श के गायब होने की जानकारी ली। लेकिन उन्हें कोई भी सफलता नहीं मिल पायी थी।

इटवा पुलिस ने संग्रामपुर चौराहे पर कुछ दुकानों पर लगी सीसी कैमरा का फुटेज भी चेक किया। लेकिन फिर भी गायब बालक के बारे में कोई सुराग नहीं मिला। इधर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। क्योंकि परिजन किसी अनहोनी की आंशका में थे। इसी बीच शनिवार अपरान्ह एक किसान को मधवापुर व कपिया सीवान के बीच स्थित कुएं में उतरायी आदर्श की लाश दिखाई दी।

इस सूचना पर शनिवार दोपहर बाद तीन बजे मधवापुर के ग्राम प्रधान इम्तियाज अहमद ने बालक की लाश मिलने की सूचना स्थानीय थाने पर दी। जानकारी मिलने पर इटवा पुलिस ने मौके पर पहचान करते हुए लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस संबंध में एसओ विन्देश्वरीमणि तिवारी का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद रिपोर्ट मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।

हत्या की आशंका व्यक्त कर रहे ग्रामीण

गांव के लोगों के मुताबिक बच्चे का एकाएक संदिग्ध हाल में गायब हो जाना किसी साजिश का हिस्सा था। इसके लिए बच्चे को अगवा कर लिया गया होगा और उसकी हत्या करके लाश को कुएं में फेंक दिया गया होगा। क्योंकि घर से इतनी दूर सके अकेले जाने का कोई औचित्य नहीं था। आसपास झाड़ होने के कारण ऐसा भी नहीं है कि आदर्श अचानक कुएं में गिर गया हो, क्यों की झाड़ियां इसमें बाधक थीं। लिहाजा घटना कहीं न कहीं हत्या की ओर इशारा कर रही है। ज्ञात रहे कि कुछ दिन पूर्व दिनेश की लड़की की भी संदिग्ध हात में मौत हुई थी।  लोगों का मानना है कि चूंकि दिनेश कोटेदार है अतः उसकी कई लोगों से दुश्मनी है। सो उसके बेटे की हत्या होना संभव है।फिलहाल पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट के इंतजार में है, जिससे केस में आगे बढ़ सके।

एसपी ने किया घटना स्थल का मुआयना

घटना की जानकारी मिलने के बाद एसपी अमित कुमार आनंद खुद घटना स्थल पर पहुंच गए। उन्होंने बच्चा कहां खेल रहा था, कहां लाख मिली, किन- किन बच्चों से मिला था यह सब जानकारी ली। इसके साथ ही उन्होंने खुले हुए कुएं को ढ़कने के लिए ग्राम प्रधान को निर्देश दिया। उनके साथ सीओ हरिश्चंद, एसओजी प्रभारी जीवन त्रिपाठी सहित पुलिस टीम मौजूद रही।

 

 

 

 

 

 

(239)

Leave a Reply


error: Content is protected !!