सड़क हादसे में देवर-भाभी की मौत से तीन बच्चे अनाथ, तीन गांवों में मातम का माहौल

July 23, 2023 12:02 PM0 commentsViews: 440
Share news

सरताज आलम

सरस्वती देवी के साथ्र 25वर्षीय मृतक देवर महेन्द्र विश्वकर्मा24 वर्षीय मृतक महेन्द्र  विश्वकर्मा

सिद्धार्थनगर। शोहरतगढ़- चेतिया मार्ग पर गत दिवस सड़क हादसे में देवर भाभी की मौत से तीन गांवों में मातम का माहौल है। उसी के साथ मृतका सरस्वती के तीन मासूम बच्चे अनाथ हो गये हैं। सबसे छोटी बेटी खुश्बू जो मात्र दो साल की है, जब वह रोते हुए परिवार के बीच बड़ी मासमियत से हंसती खिलखिलाती है तो उसकी मासूमियत देख लोगों के रोने की आवाजें और तेज हो जाती है। दूसरी तरफ उसके मृत देवर की पत्नी पर वैधव्य का पहाड़ टूट पड़ा है। उसके कोई बच्चे नहीं हैं। तीन वर्रा पूर्व ब्याह कर आईविमला की जीवन कैसे कटेगा, यही सोच कर लोग पागल हुए जा रहे हैं।

सरस्वती की मौत से तीन बच्चों के सिर से हमेशा के लिए मां का साया उठ गया। बड़ी बेटी खुशी को हाथ में लिए सरस्वती ने दम तोड़ दिया। वह उसे अस्पताल में निहार रही थी। वहीं, उसकी मौत से दो गांवों में मातम छा गया। ससुराल के साथ ही मायके में भी गम का माहौल है। कठेला समय माता थाना क्षेत्र के अमहवा नदवलिया गांव की निवासी सरस्वती (27) पत्नी योगेन्द्र के पास तीन बच्चे हैं। इसमें बड़ा लड़का दीपक जिसकी उम्र दस वर्ष है। दूसरे नंबर की बेटी 4 साल की खुशी का इलाज कराने के लिए वह शोहरतगढ़ जा रही थी। दो वर्षीय पुत्री खुशबू है। वह तीनों को साथ लेकर मायके में आई थी। बच्चों को समझाकर निकली थी कि जल्द ही लौट आएंगे।

लेकिन मंजिल तक पहुंचने से पहले हादसे में जान चली गई। जबकि चार वर्षीय बेटी के आंख के सामने सरस्वती हमेशा के लिए उनका साथ छोड़कर चली गई। मौत की खबर मिलने के बाद पुत्र दीपक का रो-रोकर बुरा हाल है। इसके साथ ही मायके बुढनइया पकड़ी और ससुराल अमहवा नदवलिया गांव में हादसे के बाद मातम छा गया है। दो वर्षीय खुशबू अपने मां को खोज रही है। वहीं खुशी अस्पताल में मां के लाश को निहार रही थी। सरस्वती का पति जोगेंद्र दिल्ली कमाने तीन दिन पहले ही गया है। वह घटना की खबर सुन कर वहां से चल चुका है। इसी के साथ मृतक महेन्द्र की पत्नी के साथ भी वैधव्य का पहाड़ खड़ा हो गया है।

बताते चलें कि शोहरतगढ़ थाना क्षेत्र के चेतिया मार्ग पर स्थित अकरा चौराहे के पास शनिवार को तीन बाइकें आपस में टकरा गई थीं। इस भीषण हादसे में बाइक सवार  24 वर्षीय देवर महेन्द्र विश्वकर्मा व उसकी 27 साल की भाभी सरस्वती की मौत हो गई था। जबकि तीन लोगों का शोहरतगढ़ सीएचसी में इलाज चल रहा है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

 

Leave a Reply