Murder mistry: 12 वर्षीय बालक की हत्या में सगे भाई गिरफ्तार, मगर कत्ल का रहस्य बरकरार, कारण प्रेम प्रसंग तो नहीं

February 6, 2024 1:22 PM1 commentViews: 1021
Share news

नजीर मलिक

बेटे की हत्या की खबर पर बिलखती मां ममता देवी और पड़ोसी

सिद्धार्थनगर। मां की तहरीर पर 12 वर्षीय बेटे श्यामसुंदर की हत्या के आरोप में कठेला पुलिस ने गांव के ही दो भाइयों अमीरुल्लाह व अतीउल्लाह को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन हत्या का कोई प्रत्यक्ष कारण न बता पाने की वजह से इस कत्ल का रहस्य और भी गहरा गया है। घटना जिले के इटवा तहसील के ग्राम पचपेडवा की है। जो जिले भर में चर्चा का विषय बनी हुई है। यह सवाल उठ रहा है कि हर कत्ल की कोई न कोई वजह होती है। लेकिन कि उस मासूम की हत्या की कोई ठोस वजह सामने नहीं आ पा रही है। यहां तक कि मृतक सुंदर की विधवा मां ममता देवी भी केवल इतना ही कह रही है कि उसके बेटे को दोनों भाइयों अमीरुल और अतीउल ने मिल कर मार डाला। मगर क्यों मार डाला? इसका सटीक जवाब उसके पास भी नहीं है। ऐसे में मामले की तह तक जाने के लिए पहले पूरी घटना समझना पड़ेगा।

12 साल का मासूम बालक श्याम सुंदर

पत्तों से ढकी मिली थी श्यमसुंदर की लाश

कठेला थाने के ग्राम पचपेडवा की एक विधवा ममता देवी के 4 बच्चों में सबसे छोटा श्याम सुंदर 12 साल का था और कक्षा चार में पढ़ता था। वह परिवार में सबसे छोटा है और उसकी सबसे बड़ी बहन 18 साल की है। रविवार के दिन दोपहर में वह अपने खेत की रखवाली करने गया और गायब हो गया गांव वालों द्धार तलाश करने पर उसकी लाश गांव के उत्तर सागौन के घने बाग में पत्तों से ढकी हुई मिली।  प्रतीत होता था कि उसे गला घोंट कर मारा गया है। इसके बाद गांव में कोहराम मचना स्वाभाविक ही था।

मां भी नहीं बता पा रही बेटे के कत्ल की वजह

इसके बाद उसकी मां ने तहरीर दिया कि उसका बेटा श्याम सुंदर गांव के ही 40 वर्षीय अमीरुल्लाह व उसके भाई 42 वर्षीय अतीउल्लाह के साथ खेत की रखवाली करने जाता था। उन्हीं दोनों ने उसके बेटे का कत्ल कर दिया है। इसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। बकौल पुलिस दोनों ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है। अब सवाल उठता है कि आखिर श्याम सुंदर के कत्ल की वजह क्या थी? इसे तो उसकी मां ममता देवी भी साफ नहीं बता पा रही है। वह केवल इतना ही कहती है कि उसके बेटों का उन्हीं दोनों ने कत्ल किया है। जबकि उन दोनों परिवारों में कोई विवाद भी नहीं था। जबकि हर कत्ल के पीछे एक वजह होती है जो प्रत्यक्ष रुप से सामने नहीं आ पा रही है। यही बात चौंकाने वाली है। तो क्या मामले के पीछे कोई खास वजह है? क्या पकड़े गये भाई निर्दोष है?

क्या सागौन के बाग में छिपा है रहस्य?

इस बारें में अपराध मनोविज्ञान के जानकार बताते है कि इस प्रकार के घटनाएं अक्सर जमीन जायदाद हड़पने अथवा प्रेम प्रसंगों की घटना देख लिये जाने पर ही होता है। श्यामसंदर की हत्या के मामले में जमीन जायदाद हड़पने की शक दूर दूर तक नजर नहीं आती।फिर ध्यान प्रेम प्रसंगों पर ही जाता है। ऐसे में मुमकिन है गांव में किसी मर्द का किसी से अवैध सम्बंध रहा हो और उनको आपत्तिजनक अवस्था में श्यामसुंदर ने देख लिया हो।फिर बात खुलने के डर से उसकी हत्या कर दी गई हो। जिस जगह उसकी लाश पाई गई है, वह सागौन का घना बाग है। उसमें प्रेमी युगलों के छुप कर मिलने की पूरी गुंजाइश है। इसलिए पुलिस को इस पहलू पर मुस्तैदी से जांच करनी होगी। ऐसे में जरूरी है कि पुलिस गंभीरता से जांच करें ताकि कत्ल की असली वजह सामने आ सके और किसी बेगुनाह को भी जेल जाने से बचाया जा सके।

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply