गोरखपुर की ऐमम जमाल बनी I.A.S, भाई भी कर रहा प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी

April 12, 2019 3:39 pm0 commentsViews: 712
Share news

विशेष रिर्पोट

 गोरखपुर। खूनीपुर साहबगंज के रहने वाले हसन जमाल उर्फ बबुआ (व्यवसायी) व अफरोज बानो (सहायक अध्यापिका) की पुत्री ऐमन जमाल ने आईएएस की परीक्षा में 499 रैंक (रोल नं. 0864858) हासिल किया है।

ऐमन का 27 मार्च को आईएएस परीक्षा का साक्षात्कार हुआ और 28 मार्च को मेडिकल हुआ. पांच अप्रैल को रिजल्ट आया. इससे पहले ऐमन जमाल 25 दिसंबर 2018 को श्रम आयुक्त बन गईं थी. उसी समय उन्होंने आईएएस प्री परीक्षा पास कर ली थी.  अभी 4 अप्रैल को उन्होंने शाहजहांपुर में श्रम आयुक्त पद पर ज्वाइन किया था कि तभी 5 अप्रैल को इतनी बड़ी खुशखबरी मिल गई. जनवरी 2019 में उन्होंने बिहार पीसीएस परीक्षा भी पास की थी.

शुरु से मेधावी रही ऐमन ने इंटर तक की शिक्षा कार्मल गर्ल्स इंटर कालेज से व स्नातक की परीक्षा सेंट एंड्रयूज डिग्री कालेज से हासिल की. जामिया मिलिया इस्लामिया नई दिल्ली व जामिया हमदर्द नई दिल्ली में अल्पसंख्यकों के लिए संचालित कोचिंग में ऐमन ने दो साल आईएएस परीक्षा पास करने की तैयारी की. यहां आईएएस परीक्षा की मुफ्त तैयारी करवाई जाती है.

ऐमन पांच बहने व एक भाई है. भाई बहनों में ऐमन दूसरे नम्बर पर हैं. बड़ी बहन इमरीन जमाल एमबीबीएस डाक्टर हैं और एमडी की पढ़ाई कर रही हैं. तीसरे नम्बर की बहन हेरा जमाल ने एमबीए किया है और सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रही हैं.  चौथे नम्बर की बहन तुबा जमाल बीडीएस की पढ़ाई कर रही हैं. पांचवें नम्बर की बहन हबीबा हसन नौवीं की छात्रा हैं. भाई मो. अनस भी लखनऊ में रहकर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा है.

ऐमन ने न केवल अपना बल्कि पूरे परिवार का ख्वाब सच कर दिखाया है. यह परिवार बेटियों के लिए मिसाल है और इसने पैगाम दिया है कि अगर बेटियों की बेहतरीन परवरिश हो तो वह हर चुनौतियों से लड़कर कामयाबी की मंजिल पा सकती हैं. ऐमन समाज के दबे कुचले लोगों को न्याय दिलाने के जज्बे से लबरेज हैं.

 

(505)

Leave a Reply


error: Content is protected !!