अनारकली का कत्ल पेशेवर हत्यारे ने किया है, शायद किसी का कोई राज जान गई थी वह?

June 18, 2024 12:33 PM0 commentsViews: 22
Share news

 

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। खेसरहा थाना क्षेत्र के कठमोरवा गांव में हुई वृद्ध महिला अनारकली की हत्या के 60 घंटे के बाद भी पुलिस  कत्ल के मकसद पर नहीं पहुंच पाई है । लेकिन उनके शरीर पर लगे घावों पर गौर किया जाये तो लगता है कि हत्यारा कोई पेशेवर था, जिसे बखूबी पता था कि शरीर के किस संवेदनशील हिसे पर वार करने से इंसान के बचने की संभावना नहीं रहती है। लेकिन यह कत्ल क्यों हुआ? एक वृद्ध महिला को  कौन और क्यों मार सकता है? इस बारे में पोस्ट मार्टम रिपोर्ट आने के 48 घंटे बाद भी कुछ पता नहीं चल पा रहा है। पीएम रिपोर्ट मुताबिक  मृतका के शरीर पर छह जख्म मिले हैं। दिल, फेफड़े और कनपटी के करीब किए गये  सभी वार ऐसे थे कि जिसमें जान बचने की संभावना कम रहती है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट गहरे जख्म से मौत की बात सामने आई है। हत्या किसी नुकीले हथियार से की गई लगती है। अनारकली की मौत के बाद से उनके बेटे के साथ  पड़ोसी भी सोचने पर विवश हैं  कि यह हत्याकांड किसने और क्यों किया? जब किसी से कोई दुश्मनी ही नहीं थी। इस अनसुलझे हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने के लिए एसपी ने थाने के अलावा एसओजी और अन्य टीमों को लगाया है। सूत्रों की माने तो पुलिस घटना स्थल के 100 मीटर के रेडियस में उस वक्त एक्टिव मोबाइल फोन के बारे में जानकारी ली जा रही है। यह देखा जा रहा है कि कौन मोबाइल आधा से एक घंटा तक उस एरिया में एक्टिव था। इसके बाद दूर चला गया या फिर बंद कर दिया गया। इसके जरिए भी कातिल तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है।

मृतका कलावती के अपने बेटों व देवर के परिवार से अच्छे संबंध थे। दोनों परिवार मिल जुलकर रहते थे। कभी विवाद नहीं होता था। जमीन से जुड़ा कोई विवाद था ही नहीं। लूट करने की नीयत से कोई आता तो सामन ले जाता दरवाजा तोड़ता। इसमें एक भी वजह नहीं है, जहां से हत्या की नौबत आए। जानकारों की माने तो अनारकली ने कुछ ऐसा देख लिया था, जिसे कातिल को नुकसान होता। वह उसी को छिपाने के लिए ऐसा कर दिया। क्योंकि ऐसे अनसुलझे मामले में आखिरी वक्त में यह बात सामने आती है। इस संबंध में एसओ खेसरहा रविंद्र कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस टीम लगी है। हर पहलुओं पर जांच कर रही है। जल्द ही किसी नतीजे पर पहुंच जाएगी और मामले का पर्दाफाश किया जाएगा।

बताते चलें कि क्षेत्र के कठमोरवा गांव निवासी अनारकली शनिवार की रात खाना खाकर अपने बरामदे में सो रही थी। उसका बेटा बहू को लेकर गोरखपुर इलाज कराने के लिए गया हुआ था। देर रात किसी ने धारदार हथियार से हमला कर दिया। हमला होते ही वह जोर-जोर से चीख पुकार करने लगी। घर के बगल छत पर सो रहे अनारकली के देवर के लड़के महेंद्र शर्मा की पत्नी ने महेंद्र को जगाया और कहने लगी कि नीचे से की पुकार की आवाज आ रही है। लेकिन महेंद्र ने कहा कि बड़ी माता जी सपना देख रही होगीं। इतना कह कर पुन: दोनों फिर से सो गए। लोगों के मुताबिक अनारकली अकसर सपना देखा करती थी और सपने में ऊंट पटांग बोला करती थी। इसीलिए इस बात को कोई गंभीरता से नहीं लिया। महेंद्र और उसकी पत्नी जब भोर में जगे तो देखा अनारकली खून से लतपथ मृत अवस्था में पड़ी थी। पर धारदार हथियार से हमला किया गया था। लेकिन  घटना के तीन दिन बाद भी पुलिस हत्या के पछे का मकसद नहीं तलाश पा रही है। जबकि हत्या के कारण का खुलासा होते हर हत्यारा पुलिस की जद में आ जाता है।

 

 

 

 

 

Leave a Reply