अनारकली मर्डर केसः प्रेमी ने अवैध संबंध का राज खुलने के डर से प्रेमिका की मां का किया था कत्ल

June 21, 2024 12:48 PM0 commentsViews: 1008
Share news

नजीर मलिक

चित्र—- बेटी के सम्बंधों पर बलि चढ़ी अनारकली देवी

सिद्धार्थनगर। खेसरहा थाना क्षेत्र के अनारकली मर्डर केस की गुत्थी सुलझ गई है। उस वृद्ध महिला की हत्या  उसकी ही शादीशुदा बेटी के प्रेमी ने की थी। प्रेमी का नाम विनोद कुमार है। वह जेवर बनाने व बेचने का काम करता है। उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस  के मुताबिक बेटी  के अवैध सम्बंधें को जानने के बाद वह उसका विरोध करने लगी थी। जिसे आजिज आकर बेटी के प्रेमी विनोद ने उसे रास्ते से हटाया था। पूछताछ में उसने रिश्ते और वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकार भी किया है।

खेसरहा क्षेत्र के कठमोरवा गांव में 60 वर्षीया वृद्ध महिला अनारकली की गत 15 जून की रात  उस वक्त हत्या कर दी गई, जब वह अपने घर के बरामदे में सो रही थी। महिला की हत्या धारदार हथियार से की गई थी। हत्या का केस दर्ज करके मामले का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस टीम लगी थी। खेसरहा पुलिस के अलावा एसओजी और सर्विलांस की टीम भी काम कर रही थी। जांच में एक बात तय हो गई की महिला का सम्पत्ति सम्बंधी कोई विवाद नहीं है और न ही कोई पुरानी अदावत थी। अंत में पुलिस ने सर्विलांस का सहारा लिया। उसने इलाके के कुछ मोबाइल नम्बरों को सर्विलांस पर रखा। सर्विलांस और मानीटरिंग के दौरान उसे एक नम्बर संदिग्ध मिला, जो विनोद कुमार वर्मा निवासी बरगदवा का था। 30 वर्षीय विनोद वर्तमान में मृतक के गाव से तीन किमी. दूर नासिरगंज चौराहे पर आभूषण की दुकान चलाता था।

इतना पता चलते ही खेसरहा पुलिस ने उसे दबोच लिया। पूछताछ में पता चला कि विनोद का मृतका की  विवाहिता बेटी से अवैध संबंध है और वह अपने घर रहती है। दोनों के संबंध के बारे में अनारकली को जानकारी हो गई थी। वह इसके लिए विनोद को कई बार टोक चुकी थी। इससे विनोद गुस्से में था और शक था कि मामला प्रकाश में न आए जाए।  अतः उसने अनारकली का जीवन समाप्त करने का क्रूर फैसला कर लिया।

हत्या की वारदात को छिपाने के लिए उसने 15 जून का दिन चुना  उस दिन मृतका की बहू और बेटा दवा के लिए  बाहर गये थे। ऐसे में रात में आकर उसने अनारकली की हत्या कर दी। पूछताछ में हत्या करने और अवैध संबंध होने की बात स्वीकार की। विनोद से पूछताछ करने के बाद उसे न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया, जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया। पकड़ने वाली टीम में इंस्पेक्टर खेसरहा रविंद्र कुमार सिंह सहित उनकी टीम शामिल थी।

बताते  चलें कि कठमोरवा गांव की अनाकरली खाना खाकर 15 जून की रात अपने घर के बरामदे में सो रही थीं। उसका बेटा बहू को लेकर गोरखपुर गया था। देर रात किसी ने धारदार हथियार से हमला कर दिया। हमला होते ही वह जोर-जोर से चीख पुकार करने लगीं। घर के बगल छत पर सो रहे अनारकली के देवर के लड़के महेंद्र शर्मा की पत्नी ने महेंद्र को जगाया और कहने लगीं कि नीचे से पुकार की आवाज आ रही है, लेकिन महेंद्र ने कहा कि बड़ी माता जी सपना देख रही होंगी। इतना कह कर दोनों सो गए। लोगों के मुताबिक अनारकली अकसर सपना देखा करती थीं और सपने में ऊंट पटांग बोला करती थीं। इसीलिए इस बात को किसी ने गंभीरता से नहीं लिया। महेंद्र और उसकी पत्नी जब भोर में जगे तो देखा अनारकली खून से लथपथ मृत अवस्था में पड़ी थीं। उन पर धारदार हथियार से हमला किया गया था।

 

 

 

 

 

Leave a Reply